कोल्हापुर: कर्नाटक में हुबली रेलवे स्टेशन पर विस्फोट के एक दिन बाद महाराष्ट्र में कोल्हापुर पुलिस जांच कर रही है कि स्थानीय शिवसेना विधायक का नाम बाल्टी में रखे गत्ते पर कैसे आया. पुलिस इसकी भी जांच कर रही है कि क्या हुबली की घटना का पिछले सप्ताह कोल्हापुर में मुंबई-बेंगलुरू राजमार्ग विस्फोट मामले से कोई संबंध है. इस मामले में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने यहां बताया कि बाल्टी के भीतर एक गत्ता रखा हुआ था, जिस पर प्रकाश अबितकर लिखा हुआ था. अबितकर पश्चिम महाराष्ट्र जिले में राधानगरी से शिवसेना के निवर्तमान विधायक हैं. सोमवार को हुए विधानसभा चुनाव में वह उम्मीदवार थे. उन्होंने कहा, प्रारंभिक नजर में ऐसा लगता है कि हुबली रेलवे स्टेशन पर लावारिस बाल्टी के भीतर कम क्षमता वाला विस्फोटक रखा गया था. जब यह पूछा गया कि गत्ते पर जिस ”प्रकाश अबितकर” का नाम है क्या वह वही विधायक हैं, इस पर उन्होंने हामी भरी. बाल्टी में गत्ते पर लिखा था, ”प्रकाश अबितकर, गरगोती तालुका, भदरगढ़.”

हुबली रेलवे स्टेशन पर 21 अक्‍टूबर को हुए विस्फोट में एक व्यक्ति घायल हुआ था  
उत्तरी कर्नाटक के हुबली रेलवे स्टेशन पर सोमवार को विस्फोट हो गया. इस घटना में एक व्यक्ति घायल हो गया था, विस्फोट तब हुआ जब व्यक्ति ने प्लेटफॉर्म पर रखी लावारिस बाल्टी में पड़े प्लास्टिक के बक्सों में से एक बक्सा उठाया था.

 ‘भाजपा नहीं, एनएसयूआई नहीं, केवल शिवसेना’ लिखा था
पुलिस के एक अधिकारी ने बताया था कि बाल्टी पर महाराष्ट्र में शिवसेना के विधायक प्रकाश राव अबितकर का नाम हाथ से लिखा था. इसके साथ अलावा उस पर किसी स्थान का पता और नारे ‘भाजपा नहीं, एनएसयूआई नहीं, केवल शिवसेना’ लिखा था. अधिकारी ने कहा, विस्फोट की वजह से एक व्यक्ति घायल हो गया और नजदीक के कमरे की खिड़की का कांच टूट गया.’’

बाल्‍टी में प्लास्टिक के पांच बक्से थे
पुलिस अधिकारी ने कहा कि विस्फोट बड़ा नहीं था और इस मामले में जांच जारी है. पुलिस ने बताया कि बाल्‍टी में प्लास्टिक के पांच बक्से थे. हुबली एक बड़ा जंक्शन है और दक्षिण पश्चिम रेलवे जोन का मुख्यालय है. यहां विस्फोट होने से अफरा तफरी मच गई थी. घटना के तुरंत बाद रेलवे सुरक्षा बल तथा अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचकर पूरे प्लेटफॉर्म को खाली करवा लिया था और गहन तलाशी घायल को अस्पताल में भर्ती करवाया गया था.

 रेलवे स्टेशन पर विस्फोटक किसने रखे थे
दक्षिण पश्चिम रेलवे ने एक वक्तव्य में कहा था कि स्थानीय पुलिस को घटना की जानकारी दे दी गई है. रेलवे पुलिस भी अलर्ट पर है. उच्चाधिकारियों समेत राज्य पुलिस घटनास्थल पर पहुंचे थे और जांच शुरू कर दी गई थी. घटना के बाद कर्नाटक के मंझले एवं बड़े उद्योग मंत्री जगदीश शेट्टार ने कहा कि जांच के बाद ही पता चल पाएगा कि रेलवे स्टेशन पर विस्फोटक किसने रखे थे.

बाल्टी में गत्ते पर अबितकर का नाम कैसे आया
जिला पुलिस अधीक्षक अभिनव देशमुख ने बताया, हम दो दिशा में मामले की जांच कर रहे हैं. हम जांच करेंगे कि बाल्टी में गत्ते पर अबितकर का नाम कैसे आया. हम यह भी जांच करेंगे कि क्या हुबली की घटना का कोल्हापुर में उजालईबाडी की घटना से कोई जुड़ाव है. वह मुंबई-बेंगलुरू राजमार्ग पर 18 अक्टूबर को हुए विस्फोट का हवाला दे रहे थे, जिसमें 45 वर्षीय ट्रक ड्राइवर की मौत हो गई थी.