मुंबई: राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के मुख्य प्रवक्ता नवाब मलिक ने शुक्रवार को कहा कि यदि भाजपा और शिवसेना महाराष्ट्र में सरकार बनाने में विफल रहती हैं तो उनकी पार्टी विकल्प देने का प्रयास करेगी. वहीं, इससे एक दिन पहले एनसीपी के सीनियर नेता अजीत पवार कह चुके हैं कि पार्टी कांग्रेस के साथ विपक्ष में बैठेगी.

मलिक ने बीजेपी नेता और मंत्री सुधीर मुनगंटीवार पर उनके इस बयान को लेकर प्रहार किया कि यदि महाराष्ट्र में सात नवंबर तक नयी सरकार नहीं बनती है तो फिर राज्य में राष्ट्रपति शासन लग सकता है.

मलिक ने कहा, ”यह कुछ धमकी जैसा लगता है. लोगों ने भाजपा और शिवसेना से सरकार बनाने को कहा है. यदि वे सदन के पटल पर ऐसा करने में विफल रहती हैं तो हम विकल्प देने का प्रयास करेंगे.” वैसे राकांपा नेता ने इसका कोई ब्योरा नहीं दिया.

भाजपा और शिवसेना ने गठबंधन में 21 अक्टूबर का विधानसभा चुनाव लड़ा था लेकिन अब मुख्यमंत्री के पद को दोनों के बीच ठन गई है. शिवसेना चाहती है कि मुख्यमंत्री का पद ढाई साल उसके पास और ढाई साल भाजपा के पास रहे, लेकिन भाजपा इस पर राजी नहीं है.

दल         सीटें
बीजेपी    105
शिवसेना  56
एनसीपी   54
कांग्रेस      44
कुल विधायकों की संख्‍या : 288
बहुमत के लिए जरूरी संख्‍या: 145