मुंबई: स्‍कूली बच्‍चों के अभिभावकों को कोरोना वायरस संक्रमण के दौरान फीस भरने के संबंध में राहत भरी खबर है. स्‍कूल की फीस भरने की मांग की जाती है तो अभिभावक इसकी शिकायत कर सकते हैं. ये राज्‍य है महाराष्‍ट्र, जहां की स्‍कूली शिक्षा मंत्री ने अपने बयान में यह बात कही है. Also Read - कोल्ड चेन की कमी से दुनिया में तीन अरब लोगों तक कोरोना टीका पहुंचने में हो सकती है देर

महाराष्ट्र की स्कूली शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने शुक्रवार को कहा कि लॉकडाउन के दौरान अगर स्कूलों की ओर से फीस मांगी जाती है, तो छात्रों के माता पिता इसके खिलाफ जिला शिक्षा अधिकारियों से शिकायत कर सकते हैं. Also Read - कोरोना को मात देने के बाद जेनेलिया ने संक्रमण से बचने का बताया एकमात्र तरीका, कहा- अब मुश्किल...

बता दें कि मुंबई में पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 2120 है. वहीं, महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के 34 और मामले सामने आने के बाद शुक्रवार को संक्रमितों की कुल संख्या 3,236 पहुंच गई है.नगर निगम ग्रेटर मुंबई के मुताबि‍क,  मुंबई में 77 नए COVID19 पॉजिटिव केस, 5 की मौत मुंबई में संक्रमित मामलों की कुल संख्या 2120 है, जिसमें 121 लोगों की मौतें हो चुकी हैं. Also Read - India Covid-19 Updates: देश में थम रही कोरोना की रफ्तार, बीते 24 घंटे में 55,722 नए केस और 579 की मौत

मंत्री गायकवाड़ ने एक बयान में ने कहा कि सरकार ने 30 मार्च को आदेश जारी किया था कि स्कूल और अन्य शिक्षण संस्थान बंद के दौरान फीस की मांग नहीं कर सकते. गायकवाड़ ने बताया कि निर्देश के अनुसार लॉकडाउन समाप्त होने के बाद ही स्कूल फीस मांग सकते हैं.

मंत्री ने कहा, मुझे कई शिकायतें प्राप्त हुईं जिनके मुताबिक, अभी भी फीस की मांग कर छात्रों के माता पिता को परेशान किया जा रहा है, जबकि लॉकडाउन की अवधि बढ़ाकर तीन मई तक कर दी गई है. उन्होंने कहा, “माता पिता इसके खिलाफ जिला शिक्षा अधिकारी से शिकायत कर सकते हैं.