नई दिल्ली: दलितों के खिलाफ अपराध रुकने का नाम नहीं ले रहा है. ताजा मामला महाराष्ट्र के कोल्हापुर का है. उच्च जाति की लड़की को चॉकलेट ऑफर करने के लिए 13 साल के नाबालिग लड़के की बेरहमी से पिटाई की गई. इतना ही नहीं उसके कपड़े उतारकर गांव से लेकर ग्राम पंचायत के कार्यालय तक परेड कराई. इस घटना के बाद पिछले दो दिनों से गांव में तनाव बना हुआ है.Also Read - पंजाब सरकार का अनुसूचित जाति के युवाओं को तोफहा, 41 करोड़ रुपए का कर्ज किया माफ

Also Read - Maharashtra Flood: बाढ़ प्रभावित कोल्हापुर जिले में 'एक साथ' पहुंचे मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस

सेक्स से इनकार करने पर पत्नी और दो बच्चों को जिंदा जलाया, मां-बेटी की मौत Also Read - महाबलेश्वर में भारी बारिश से रत्नागिरि, रायगढ़ में तबाही मची, 50 से ज्‍यादा मौतों की खबर, बढ़ सकती है मृतक संख्‍या

पुलिस अधिकारी ने टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया कि पीड़ित लड़के और लड़की का परिवार एक दूसरे को पहले से जानते थे. पिछले महीने उस लड़के ने स्कूल से घर लौटते समय लड़की को चॉकलेट ऑफर की थी और उसका हाथ पकड़ा था. लड़की ने घर आकर अपने माता-पिता को इस घटना के बारे में बताया. इसके बाद से दोनों परिवारों के बीच तनाव था. लड़की की सुरक्षा को देखते हुए उसे उसके माता-पिता ने मुंबई में अपने रिश्तेदार के यहां भेज दिया था.

रेवाड़ी गैंगरेपः मुख्य आरोपी सेना का जवान पंकज और मनीष गिरफ्तार

शुक्रवार को लड़की के एक अंकल और उनके एक दोस्त ने मिलकर 13 साल के लड़के को उठाया और एक कमरे में बंद कर उसकी जमकर पिटाई की. इसके बाद उसके कपड़े उतार दिए गए और ग्राम पंचायत कार्यालय तक उसकी परेड कराई. इस दौरान लोग उस लड़के को और उसके परिवार वालों को गालियां देते रहे.

स्टडी: देश में तेजी से बढ़ी है शराब की मांग, पहले की तुलना में ज्यादा पी रहे हैं भारतीय

मामला सामने आने पर कोल्हापुर पुलिस ने लड़की के दोनों रिश्तेदारों को गिरफ्तार कर लिया और पीड़ित लड़के को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया है. रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस ने दावा किया है कि फिलहाल गांव में हालात सामान्य हैं. दोनों समुदायों के सदस्यों के साथ बैठक करने के बाद गांव में शांति का माहौल है. दोनों आरोपियों को आईपीसी की धारा 452, 323 और 504 के तहत गिरफ्तार किया गया है.