मुंबई: महाराष्ट्र में मनाए जाने वाले गणपति पूजा की धूम पूरी दुनिया में हैं. वहीं गणेश पूजा में सबसे मशहूर हैं लालबाग के राजा. इस साल गणेश पूजा के दौरान राज्य में कोरोना का साया दिखेगा. यही कारण है कि लालबागचा राजा (Lalbagcha Raja) गणेशोत्सव मंडल कोरोना निर्देशों के साथ गणेश चतुर्थी का त्योहार मनाएगा. मंडल का कहना है कि गणेशोत्सव का आनंद भक्तों को अपने घरों से ऑनलाइन माध्यम से लेना होगा. वहीं ऑनलाइन ही पूजा और दर्शन करने की अपील की जा सकेगी.Also Read - Covishield: ब्रिटेन ने कोविशील्ड को दी मान्यता लेकिन फंसा है पेच- अब वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट को लेकर जारी किया बयान

बता दें कि कोरोना महामारी के काल में मुंबई में गणेश प्रतिमा बनाने वाले कलाकारों को बड़ा झटका लगा है. मूर्तिकारों का कहना है कि लॉकडाउन व कोरोना प्रतिबंधों के कारण लगातार दूसरी साल उनका कारोबार काफी प्रभावित हुआ है. एक मूर्तिकार की माने तो स्थिति पहले से ठीक है. पिछले साल की अपेक्षा इस साल गणपति प्रतिमा की मांग में कमी आई है लेकिन मूर्ति की कीमत बढ़ जाने के कारण लागत बढ़ चुकी है. Also Read - Coronavirus cases In India: 1 दिन में कोरोना से 26,964 लोग हुए संक्रमित, 186 दिनों में सबसे कम एक्टिव मामले आए सामने

बता दें कि महाराष्ट्र में गणेश चतुर्थी के अवसर पर लोग गणपति के दर्शन के लिए भारी संख्या में निकलते हैं. ऐसे में लोग लालबागचा राजा के दर्शन करने भी पहुंचते हैं. आम जनता हो या कोई बड़ी फिल्मी हस्ती सभी लालबागचा राजा के कदमों में सिर झुकाते हैं. हालांकि इस साल कोरोना के कारण परिस्थिति में थोड़ा बदलाव कर दिया गया है. यानी कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी न आए इसके लिए लालबागचा राजा के ऑनलाइन दर्शन होंगे. Also Read - Covishield: ब्रिटेन की वैक्सीन नीति को लेकर सरकार ने चेताया, कहा- यह भेदभावपूर्ण रवैया, हम भी लेंगे जवाबी एक्शन