Lockdown 5.0 In Mumbai: देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामलों के कारण लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाया जा सकता है. खबरों की मानें तो Lockdown 5.0 में कुल 13 शहरों पर सरकार की खास निगरानी रहेगी. ये वे शहर हैं कंटेन्मेंट जोन या रेड जोन वाले शहर हैं. इन्हीं शहरों में देश की आर्थिक राजधानी मुंबई भी शामिल हैं. मुंबई में अबतक कुल 669 इलाकों को सील (Containment Zones list) किया जा चुका है. बावजूद इसके लगातार कोरोना वायरस के मामलों में वृद्धि हो रही है. इस बाबत राज्य के जल संसाधन मंत्री जयंत पाटिल ने लॉकडाउन में ढील देने को लेकर कहा कि हम 29 या 30 मई के दिन स्थिति की समीक्षा करेंगे. उन्होंने कहा कि 31 मई के बाद लॉकडाउन में ढील दी जाएगी या नहीं इस बात का पता चल जाएगा. लेकिन अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाएंगे तो हमें इसका पालन करना होगा. सूत्रों की मानें तो महाराष्ट्र में लॉकडाउन की अवधि को 14 जून तक बढ़ाया जा सकता है. Also Read - Coronavirus in Jharkhand: कोविड-19 संक्रमण के 42 और मामलो के साथ संक्रमित लोगों की संख्या हुई 2739

NCP प्रमुख शरद पवार भी लॉकडाउन में ढील देने लेकिन सावधानी बरतने को लेकर बयान जारी कर चुके हैं. वहीं इस बाबत बीते रविवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा था कि महाराष्ट्र सरकार की तरफ से जिस तरह धीरे धीरे लॉकडाउन में पाबंदियों को बढ़ाया गया था. उसी तरह धीरे धीरे कर लॉकडाउन में ढील भी दी जाएगा. लेकिन लोगों ने अगर नियमों का पालन नहीं किया और जगह-जगह भीड़ लगाई तो उन्हें लॉकडाउन फिर से लागू करना पड़ेगा व नियमों को सख्ती से पालन करवाने का प्रशासनिक अधिकारियों को आदेश भी देना पड़ेगा. Also Read - कोरोना के नए प्रकार के कारण वैश्विक स्तर पर संक्रमण के बढ़े मामले, जानिए इसके पीछे की वजह

लॉकडाउन के मद्देनजर कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने राज्यों के स्वास्थ्य सचिवों और मुख्य सचिवों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत की है. इस दौरान 13 कोरोना हॉटस्पॉट में शामिल शहरों के जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक भी इस मीटिंग का हिस्सा रहें. इससे कहीं न कहीं यह संकेत मिलने लगा है कि Lockdown 5.0 में सरकार का फोकस हॉटस्पॉट, कंटेन्मेंट जोन या फिर सील इलाकों में ज्यादा रहेगा. वहीं देश के अन्य हिस्सों में शायद लॉकडाउन में थोड़ी रियायत दी जा सकती है. Also Read - दिल्ली में कोरोना के 2,505 नए मामले सामने आए, 10 लाख की आबादी पर किए जा रहे 32,650 टेस्ट

खबरों की मानें तो महाराष्ट्र सरकार फिलहाल लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाए जाने के बाद लोगों को थोड़ी रियायत दी जाए इस योजना पर काम कर रही है. इस बाबत उद्योग जगत का कहना है कि अर्थव्यवस्था को वापस पटरी पर तभी लाया जा सकेगा जब सामानों की बिक्री शुरू होगी और ऐसा होना तभी संभव है जब लॉकडाउन को खत्म किया जाएगा.

बता दें कि महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के मामलों में दिन पर दिन काफी तेजी दर्ज की गई है. महाराष्ट्र में अब तक 59,546 कोरोना संक्रमण के मामलों की पुष्टि की जा चुकी है. इनमें से अबतक 18,616 लोगों को इलाज कर ठीक किया जा चुका है. वहीं एक्टिव मामलों की बात करें तो महाराष्ट्र में 37,930 कोरोना के एक्टिव मामले हैं. अबतक राज्य में कुल 1982 लोगों के मौत की पुष्टि की जा चुकी है. बता दें कि महाराष्ट्र में मुंबई, पुणे और थाणे कोरोना हॉटस्पॉट हैं.