Lockdown In Maharashtra : महाराष्ट्र में कोरोना महामारी लगातार विकराल रूप लेती जा रही है. इसकी रोकथान के लिए पूरे राज्य में सख्ती बढ़ा दी गई है. राज्य में जो  मिनी लॉकडाउन एक मई तक लागू था उसकी मियाद अब बढ़ा दी गई है. गुरुवार को प्रदेश के मुख्य सचिव सीताराम कुंटे ने इस संबंध में आदेश जारी किया है, उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र सरकार ने गुरुवार को लॉकडाउन जैसी पाबंदियों को 15 मई तक बढ़ा दिया है, ताकि राज्य में कोरोना वायरस महामारी के प्रसार पर रोक लगाई जा सके. पहले मिनी लॉकडाउन एक मई तक के लिए ही लागू था.Also Read - मध्यप्रदेश के नीमच में दो समुदायों के बीच सांप्रदायिक हिंसा, जमकर हुई पत्थरबाजी-आगजनी, लगाया गया कर्फ्यू

कुंटे की तरफ से जारी आदेश में कहा गया, ‘प्रदेश में पाबंदियां बढ़ाने का निर्णय किया गया है क्योंकि राज्य में कोविड- 19 का खतरा बना हुआ है.’ उन्होंने कहा कि आपातकालीन उपाय जारी रखना अनिवार्य है ताकि वायरस के प्रसार को रोका जा सके. लोगों की आवाजाही और अन्य गतिविधियों पर पाबंदियां इस महीने की शुरुआत में लगाई गई थीं, जो एक मई सुबह सात बजे तक के लिए थी. Also Read - नोएडा में बढ़ी धारा 144 की मियाद, अब 31 मई तक जारी रहेंगी पाबंदियां; जानें वजह

Also Read - Patiala Violence: पटियाला में धारा 144 लागू, हिंदू संगठन ने बुलाया बंद, खालिस्तानी समर्थकों की गिरफ्तारी की मांग

कुंते ने बताया कि पूरे प्रदेश में सीआरपीसी की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू है जिसमें एक स्थान पर पांच या अधिक लोगों के इकट्ठा होने पर प्रतिबंध है, वहीं पाबंदियों से आवश्यक सेवाओं को छूट दी गई है. पूरे प्रदेश में लोगों की आवाजाही पर रोक लगी है, वहीं उन्हें ही इजाजत मिली है जिन्हें बाहर निकलना ज्यादा जरूरी है .

बता दें कि महाराष्ट्र में गुरुवार को कोरोना वायरस के 66 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए थे तो वहीं 24 घंटे में 771 मरीजों की जान चली गई थी. प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या अब बढ़कर 45 लाख 39 हजार 553 हो गई है. वहीं अब तक कोरोना से मरने वाले लोगों की कुल संख्या 67 हजार 985 हो गई है. प्रदेश में अभी भी कोरोना के 6 लाख 70 हजार 301 ऐक्टिव मरीज हैं. स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक प्रदेश में मरीजों के स्वस्थ होने की दर 83 फीसदी से ज्यादा है.