मुंबई के पास महालक्ष्मी एक्सप्रेस में फंसे सभी 700 यात्रियों को सुरक्षित बचाया गया

भारी बारिश के कारण रेल पटरियों के पानी में डूबने से 'महालक्ष्मी एक्सप्रेस' करीब 1000 यात्रियों के साथ ठाणे जिले में बदलापुर के पास फंस गई.

Updated: July 27, 2019 4:10 PM IST

By India.com Hindi News Desk | Edited by sujeet kumar upadhyay

मुंबई के पास महालक्ष्मी एक्सप्रेस में फंसे सभी 700 यात्रियों को सुरक्षित बचाया गया

मुम्बई/ठाणे: मुम्बई और निकटवर्ती इलाकों में मूसलाधार बारिश के कारण कई इलाकों में बाढ़ जैसे हालात बन गए और रेल और विमान सेवाएं बुरी तरह प्रभावित हुई हैं. भारी बारिश के कारण रेल पटरियों के पानी में डूबने से ‘महालक्ष्मी एक्सप्रेस’ करीब 1000 यात्रियों के साथ ठाणे जिले में बदलापुर के पास फंस गई, जिसके बाद अधिकारियों ने विभिन्न राहत एजेंसियों की मदद से बचाव अभियान शुरू किया. महाराष्ट्र सरकार ने रक्षा अधिकारियों से ‘17412 महालक्ष्मी एक्सप्रेस’ में फंसे यात्रियों को हवाई मार्ग से निकालने का इंतजाम करने की अपील की.

Also Read:

राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के प्रवक्ता सचिदानन्द गावड़े ने कहा कि फंसे हुए 1000 यात्रियों में से हमने 500 को निकाल लिया गया है. उन्हें मौके से 1.5 किलोमीटर दूर सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया है. फंसे यात्रियों के लिए खाद्य पदार्थ, पेयजल और चिकित्सा सुविधाओं का प्रबंध किया गया है. मुख्यमंत्री कार्यालय ने बताया कि वहां से निकाले गए 500 यात्रियों में नौ गर्भवती महिलाएं हैं. मुख्यमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया कि एनडीआरएफ ने अब तक नौ गर्भवती महिलाओं समेत 500 से ज्यादा लोगों को सुरक्षित निकाल लिया है. आपात स्थिति के लिये प्रसूति रोग विशेषज्ञ समेत 37 चिकित्सकों को एंबुलेंस के साथ तैनात किया गया है. सहयाद्री मंगल कार्यालय में खाने-पीने जैसे जरूरी इंतजाम किये गए हैं. आगे जाने के लिये 14 बस और तीन टैंपो की व्यवस्था की गई है.


केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने मुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़णवीस से बात कर उन्हें बचाव कार्य में हर संभव मदद मुहैया कराने का आश्वासन दिया है. महाराष्ट्र सरकार की आपदा प्रबंधन इकाई के निदेशक अभय यावलकर ने एनडीआरएफ की वायु कमान, वायु सेना और नौसेना को पत्र लिख यात्रियों को हवाई मार्ग से बाहर निकालने सहित अन्य आवश्यक अभियान में मदद करने की अपील की है. बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के अनुसार पिछले 24 घंटे में सुबह आठ बजे तक मुम्बई में 97.3 मिमी बारिश हुई, जबकि पूर्वी और पश्चिमी उपनगर में इस दौरान क्रमश: 163 मिमी और 132 मिमी बारिश हुई.


इस पर नौसेना ने ट्वीट किया कि मुम्बई और उसके निकटवर्ती इलाकों में पिछले 24 घंटे से लगातार हो रही बारिश के चलते भारतीय नौसेना के तीन गोताखोर दलों सहित आठ बाढ़ राहत दल बचाव सामग्री, रबर वाली नौकाओं और लाइफ जैकेटों के साथ भेजे गए हैं. उसने कहा कि एक ‘सी किंग हेलीकॉप्टर’ मौके पर भेजा गया है, जिसमें गोताखोर रबर की नौकाओं और आवश्यक सामान के साथ मौजूद हैं. मूसलाधार बारिश के कारण मुम्बई हवाई अड्डे से 11 उड़ाने रद्द की गई और नौ के मार्ग में परिवर्तन भी किया गया है.

निकटवर्ती ठाणे जिले में रातभर हुई बारिश से कई इलाकों में बाढ़ जैसे हालात बन गए और पटरियों पर पानी भरने के कारण महालक्ष्मी एक्सप्रेस बदलापुर के पास फंस गई. एक अधिकारी ने बताया कि ट्रेन शुक्रवार रात मुंबई से कोल्हापुर के लिये रवाना हुई थी लेकिन चमटोली से आगे नहीं बढ़ सकी जहां वह शनिवार अलसुबह से ही फंसी थी. इस बीच, रेजिडेंट डिप्टी कलेक्टर (ठाणे) शिवाजी पाटिल ने बताया कि बारिश के कारण किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है. उन्होंने कहा कि उल्हास नदी में पानी बढ़ने के कारण महालक्ष्मी एक्सप्रेस ट्रेन चमटोली में फंस गई. यात्री सुरक्षित हैं.


महाराष्ट्र सरकार के प्रवक्ता बृजेश सिंह ने बताया कि एनडीआरएफ की आठ नौकाएं तैनात की गई हैं. अधिकारी ने बताया कि कल्याण के पास कल्याण मुरबाद मार्ग पर वरप, कम्बा, म्हारल सहित कई गांवों में घर डूब गए हैं. जिला प्रशासन ने बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ का एक दल मौके पर भेजा है. उन्होंने कहा कि बचाव कार्य जारी है और कम से कम 100 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है. आईएमडी (मुम्बई) के उप महानिदेश के. एस. होसालिकर ने ट्वीट किया कि मुम्बई उपनगरों में अभी भारी बारिश जारी रहेगी.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें देश की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: July 27, 2019 4:08 PM IST

Updated Date: July 27, 2019 4:10 PM IST