सोलापुर: महाराष्ट्र के सोलापुर जिले में 16 साल की एक लड़की के साथ 10 लोगों के कथित तौर पर छह महीने तक बलात्कार करने का दर्दनाक मामला सामने आया है. पीड़िता दलित समुदाय से आती है. मामला तब सामने आया जब कुछ लोगों ने मंगलवार को लड़की को मंदिर के बाहर रोता देख पुलिस को इसकी जानकारी दी. Also Read - भ्रष्टाचार मामला: CBI ने महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख को पूछताछ के लिए बुलाया

पुलिस के मुताबिक, लड़की और कुछ आरोपी दोस्त थे. बाद में कुछ और लोग इस अपराध में शामिल हो गए. आरोपियों में कुछ ऑटो-रिक्शा चालक हैं, जो छह महीने तक उसे अलग-अलग जगह ले जाते रहे और जहां उन्होंने उसके साथ कथित तौर पर बलात्कार किया. Also Read - Corona Guidelines for Navratri and Ramadan 2021: यूपी, बिहार से लेकर महाराष्ट्र तक, जानिए इन 6 राज्यों में नवरात्र और रमजान को लेकर क्या हैं नियम?

पुलिस ने बताया कि आरोपियों में से पांच को आईपीसी की धारा 376-डी, पोक्सो अधिनियम और अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत गिरफ्तार कर लिया गया है. Also Read - महाराष्ट्र में 14 अप्रैल के बाद लगेगा लॉकडाउन! उद्धव सरकार के मंत्री ने कहा- गाइडलाइन्स पर हो रही है चर्चा

सोलापुर के एक पुलिस अधिकारी ने कहा, ” बच्ची तनाव में थी लेकिन पुलिस ने उसे समझा-बुझाकर विश्वास में लिया, जिसके बाद उसने इस घटना की जानकारी दी. इसके बाद मामला दर्ज किया गया और 10 में से पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.”

पुलिस ने बताया कि लड़की के पिता की कुछ समय पहले मौत हो गई थी और वह अपनी मां के साथ रहती थी, जो घर चलाने के लिए छोटे-मोटे काम करती है.

पुलिस अधिकारी ने बताया कि लड़की और कुछ आरोपी दोस्त थे. बाद में कुछ और लोग इस अपराध में शामिल हो गए. अधिकारी ने बताया कि आरोपियों में कुछ ऑटो-रिक्शा चालक हैं, जो छह महीने तक उसे अलग-अलग जगह ले जाते रहे और जहां उन्होंने उसके साथ कथित तौर पर बलात्कार किया.

पुलिस अधिकारी ने बताया कि विजापुर नाका पुलिस थाने में मामला दर्ज कर लिया गया है और बाकी आरोपियों की तलाश जारी है.