Maharashtra Flood: महाराष्ट्र में बारिश और बाढ़ प्रभावित जिलों ने गंभीर स्थिति बनी हुई है. तटीय कोंकण क्षेत्र में रत्नागिरी, रायगढ़ जिलों और पश्चिमी महाराष्ट्र में कोल्हापुर और सतारा जिलों में भारी बारिश के कारण राज्य के कई स्थानों पर भूस्खलन हुए हैं. राज्य में पिछले हफ्ते हुई बारिश से जुड़ी घटनाओं में अब तक 213 लोगों की मौत हो चुकी है.Also Read - BJP नेता किरीट सोमैया को कोल्‍हापुर पहुंचने से पहले सतारा जिले के कराड रेलवे स्‍टेशन में हिरासत में लिया गया

इस दौरान शुक्रवार को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस बाढ़ प्रभावित कोल्हापुर जिले पहुंचे. हालांकि दोनों नेता अलग-अलग बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा कर रहे हैं. लेकिन दोनों ही नेता आज इसी बाढ़ प्रभावित जिले का दौरा कर रहे हैं. Also Read - यूपी: गणेश प्रतिमा विसर्जन के दौरान नदी में बहे पांच लोग, एक शव बरामद

बाढ़ प्रभावितों को बीमित राशि का 50 फीसदी वितरित करने का आदेश दें केन्द्रीय वित्त मंत्री: ठाकरे Also Read - चरणजीत सिंह चन्नी बने पंजाब के नए मुख्यमंत्री, कांग्रेस विधायक दल की बैठक में हुआ फैसला

इससे पहले महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बृहस्पतिवार को केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से अनुरोध किया कि वह बीमा कंपनियों को राज्य में बाढ़ प्रभावित लोगों को बीमित राशि की 50 प्रतिशत रकम वितरित करने का आदेश दें. ठाकरे ने उन्हें संबोधित एक पत्र में यह मांग की.

उन्होंने कहा, ‘बीमा कंपनियों के प्रतिनिधियों ने कवरेज की कम से कम 50 प्रतिशत राशि का भुगतान करने पर सहमति व्यक्त की है. हालांकि, उन्होंने इसके लिये बीमा कंपनियों के मुख्यालय के साथ-साथ आईआरडीए को केंद्र सरकार की ओर से निर्देश मिलने पर जोर दिया है.’

ठाकरे ने सीतारमण को याद दिलाया कि पूर्व में केंद्र ऐसे निर्देश जारी करता है. जम्मू-कश्मीर और केरल में बाढ़ के दौरान ऐसा देखने में आया था.

(इनपुट भाषा)