मुंबई: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और गवर्नर भगत सिंह कोश्यिारी ने मंगलवार को 26/11 हमले की 11वीं बरसी पर हमले में मारे गए 166 लोगों को श्रद्धांजलि दी. मुंबई हमले की 11वीं बरसी पर दक्षिण मुंबई के मरीन लाइन्स इलाके में पुलिस स्मारक स्थल पर आयोजित माल्यार्पण समारोह में मुख्यमंत्री ने शिरकत की. हमला 26 नवंबर को शुरू हुआ था और 29 नवंबर तक चला था.

बता दें इस भीषण आतंकी हमले में 10 पाकिस्तानी 10 आतंकवादियों के हमले में 26 नवंबर 2008 को मुंबई में सुरक्षाकर्मियों और विदेशियों सहित 166 लोगों की जान चली गई थी और 300 से अधिक लोग घायल हुए थे.

फडणवीस ने कहा, ”मैं 26/11 हमले के दौरान मुंबई की रक्षा करने के लिए अपनी जान न्योछावर करने वाले पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं. हमें उन पर गर्व है और राज्य की सुरक्षा के लिए हर संभव प्रयास करेंगे.

महाराष्‍ट्र आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) प्रमुख हेमंत करकरे, सेना के मेजर संदीप उन्नीकृष्णन, मुंबई के अतिरिक्त पुलिस आयुक्त अशोक कामटे, वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक विजय सालस्कर और सहायक उप-निरीक्षक (एएसआई) तुकाराम ओम्बले इस हमले में मारे गए लोगों में शामिल थे.

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी, मुख्य सचिव अजोय मेहता, पुलिस माहनिदेशक सुबोध कुमार जायसवाल, मुंंबई पुलिस आयुक्त संजय बार्वे और अन्य पुलिस अधिकारी और शहीदों के परिजन भी यहां मौजूद थे.

वहीं, मुख्यमंत्री ने ट्विटर पर मुंबई हमले पर एक वीडियो साझा करते हुए लिखा, ”सेना, पुलिस के साथ आओ हम सब मिलकर देश की सुरक्षा हेतु अपना योगदान दे!”

पाकिस्तान से आए भारी हथियारों से लैस 10 आतंकवादियों द्वारा मुंबई में 26 नवंबर 2008 को किए गए घातक हमले में सुरक्षाकर्मियों और विदेशियों सहित 166 लोगों की जान चली गई थी और 300 से अधिक लोग घायल हुए थे.

छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस, ओबेरॉय ट्राइडेंट, ताजमहल होटल, लियोपोल्ड कैफे, कामा अस्पताल और नरीमन हाउस यहूदी समुदाय केंद्र, जिसका नाम अब नरीमन लाइट हाउस है, को आतंकवादियों ने निशाना बनाया.

आतंकवादी अजमल कसाब को इस दौरान जिंदा पकड़ा गया था, जिसे हमले के चार साल बाद 21 नवंबर 2012 को फांसी पर चढ़ा दिया गया था.

रेलवे अधिकारियों ने भी छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस पर 26/11 स्मारक पर माल्यार्पण किया.

मुंंबई  पुलिस आयुक्त संजय बार्वे ने सोमवार को कहा था कि शहर की पुलिस 26/11 हमले जैसी स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है और नगरीय आतंकवाद से निपटने के लिए अपने लोगों और त्वरित कार्रवाई टीमों (क्यूआरटी) को प्रशिक्षित किया जा रहा है.

बार्वे ने कहा था कि महानगर की सड़कों और अन्य जमीनी परिसंपत्तियों की सुरक्षा कमांडो, आधुनिक हथियार प्रणाली और मार्क्समैन जैसे बख्तरबंद वाहनों सहित अत्यंत प्रशिक्षित कर्मियों द्वारा की जा रही है.