मुंबई: महाराष्ट्र में विपक्षी दलों के समर्थन से शिवसेना द्वारा सरकार बनाने की संभावना को लेकर राजनीतिक गलियारों में चर्चा के बीच प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता बाला साहेब थोराट, अशोक चह्वाण और पृथ्वीराज चह्वाण कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने के लिए गुरूवार को दिल्ली के लिए रवाना हो गये. Also Read - Delhi Lockdown Extension: दिल्ली में लॉकडाउन एक सप्ताह और बढ़ेगा! जानिए पाबंदियां जारी रखने को लेकर क्या बोले लोग

Also Read - Corona Crisis: PM Modi ने कोविड-19 की स्थिति पर महाराष्ट्र और तमिलनाडु के CM से की बात

इससे पहले दिन में महाराष्ट्र कांग्रेस के तीनों नेताओं ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष शरद पवार से उनके आवास पर मुलाकात की. राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के घटक भाजपा और शिवसेना के बीच सरकार के गठन और मुख्यमंत्री के पद के बंटवारे को लेकर गतिरोध कायम है. कांग्रेस सूत्रों ने बताया कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाधी से मुलाकात करने के लिए पार्टी नेता दिल्ली में हैं. उन्होंने बताया के आज सुबह इन तीनों नेताओं से मुलाकात के दौरान पवार ने कहा कि उन्हें कांग्रेस आलाकमान से मिलकर बातचीत करना चाहिए और राज्य के राजनीतिक परिदृश्य में क्या कदम उठाने चाहिए, इस पर उनकी अनुमति लेनी चाहिए. Also Read - देश के 180 जिलों में 7 दिनों में नहीं आया COVID-19 का एक भी केस, 24 घंटे में 3.18 लाख लोग ठीक हुए: डॉ. हर्षवर्धन

सोनिया गांधी का केंद्र पर हमला, कहा- बढ़ रही असहिष्णुता, समाज पर थोपे जा रहे अवैज्ञानिक विचार

कांग्रेस अध्यक्ष से मिलने तीनों नेता दिल्ली रवाना

सूत्रों ने बताया कि पवार के ऐसा कहने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष से मिलने ये तीनों नेता दिल्ली रवाना हुए हैं. महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर गतिरोध के बीच पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा कि यदि शिवसेना महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए कोई प्रस्ताव भेजती है तो इससे कांग्रेस के केन्द्रीय नेतृत्व को अवगत कराया जाएगा.