मुंबई: महाराष्ट्र में सोनिया गांधी के नाम से लिखी एक चिट्ठी ने सियासी भूचाल ला दिया है. इस खत में शिवसेना और एनसीपी पर कांग्रेस के खिलाफ साजिश रचने का आरोप लगाया गया है. यह आरोप मुंबई कांग्रेस के महासचिव विश्वबंधु राय ने लगाए हैं. सोनिया गांधी को लिखे खत में उन्होंने लिखा है कि महाविकास अघाड़ी की सरकार में कांग्रेस को नजरअंदाज किया जा रहा है. शिवसेना और एनसीपी की यह चाल है. Also Read - कांग्रेस का मोदी सरकार से सवाल, कितने करोड़ लोगों को कोरोना का मुफ्त टीका मिलेगा और किसको नहीं मिलेगा?

इस खत का शीर्षक दिया गया है कांग्रेस ने एक वर्ष में क्या पाया और क्या खोया. इसके बाद विश्वबंधु राय ने सोनिया गांधी को लिखे खत में कहा कि महाविकास अघाड़ी सरकार को एक साल पूरे हो चुके हैं. कांग्रेस पार्टी उद्धव सरकार की सहयोगी बनी हुई है. शिवसेना और एनसीपी महाराष्ट्र सरकार को चलाने की भूमिका में नजर आ रेह हैं. उन्होंने आगे आरोप लगाया कि एनसीपी दीमक की तरह कांग्रेस को कमजोर कर रही है. Also Read - West Bengal Assembly Election: कांग्रेस का ममता बनर्जी को बड़ा ऑफर, कहा- पश्चिम बंगाल में मिलकर चुनाव लड़े TMC, बीजेपी से...

विश्वबंधु राय ने कई मामलों पर लिखा कि महाराष्ट्र सरकार ने कांग्रेस के मंत्रियों को जमीन स्तर पर कोई बड़ा काम नहीं दिया जा रहा है. पार्टी कार्यकर्ताओं और आम जनता को मंत्रियों के विभागों का पता नहीं है. हमारे सहयोगी दल एनसीपी और शिवसेना सोची समझी साजिश और रणनीति के तहत कांग्रेस को नुकसान पहुंचाने में जुटे हुए हैं और अपनी पार्टी को आगे बढ़ाने में लगे हुए हैं. Also Read - कृषि कानूनों के खिलाफ कांग्रेस का प्रदर्शन, राहुल-प्रियंका भी हुए शामिल, कहा- पूंजीपतियों को फायदा पहुंचा रही बीजेपी

उन्होंने आगे लिखा कि साल 2019 के कांग्रेस पार्टी द्वारा किए गए चुनावी वादों पर कोई काम नहीं हो रहा है. पार्टी से लोगों के पलायन को रोकने के लिए कोई ठोस कदम उठाने की आवश्यकता है. शिवसेना और एनसीपी को गठबंधन धर्म समझाने की जरूरत है.