मुंबईः महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव (Maharashtra assembly election 2019) के लिए भारतीय जनता पार्टी (BJP) और शिवसेना के बीच सीटों का बंटवारा हो चुका है. बीजेपी 164 तो शिवसेना 124 सीटों पर चुनावी मैदान में उतरेगी. इस समझौते के तहत बीजेपी अन्य सहयोगी दलों के हिस्से वाली सीटों पर भी उम्मीदवारों को ‘कमल’ निशान पर चुनाव लड़वा रही है. इन्हीं में से एक मालशिरस विधानसभा सीट से पार्टी ने चीनी मिल मजदूर के बेटे राम सतपुते को टिकट दिया है.

बीजेपी ने जिस मालशिरस विधानसभा क्षेत्र अपने कार्यकर्ता को चुनावी मैदान में उतारा है, वह सीट रामदास आठवले की पार्टी रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (RPI) के हिस्से की थी. हालांकि ने आरपीआई ने भी उनकी उम्मीदवारी को सहर्ष स्वीकार किया है.

चुनाव नतीजों से मिलेगा जवाब, हम नटरंग जैसे इशारेबाजी करने के आदी नहीं हैंः फडणवीस

बीजेपी प्रत्याशी राम सतपुते अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) से जुड़े रहे हैं. उन्होंने विद्यार्थी परिषद में प्रदेश मंत्री के तौर पर काम किया है. इसके बाद बीजेपी ने उन्हें अपने यूथ विंग भारतीय जनता युवा मोर्चा का प्रदेश उपाध्यक्ष बनाया था. राम को मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस का भी करीबी माना जाता है.

अष्टी इलाके आने वाले राम के पिता विट्ठल सतपुते एक चीनी मिल में मजदूरी करते थे. तीनों भाई-बहनों में सबसे छोटे राम ने पुणे के एक कॉलेज से इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है. महाराष्ट्र (Maharashtra) में 21 अक्‍टूबर को विधानसभा चुनावों के लिए वोट डाले जाएंगे. चुनावी नतीजे 24 अक्‍टूबर को जारी किए जाएंगे.