Maharashtra Motor Vehicles Act महाराष्ट्र सरकार ने मोटर वाहन (संशोधन) अधिनियम 2019 के कार्यान्वयन के बारे में एक अधिसूचना जारी कर यातायात अपराधों के लिए शमन शुल्क (मौके पर ही चालान का भुगतान) में वृद्धि की है. महाराष्ट्र मोटर वाहन विभाग (एमएमवीडी) के एक अधिकारी ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी. महाराष्ट्र सरकार ने हाल ही में राज्य में 2019 अधिनियम (Maharashtra Motor Vehicles Act ) के कार्यान्वयन के बारे में अधिसूचना जारी की है जबकि विभिन्न अपराधों के लिए एक दिसंबर से नए शमन शुल्क लागू किए गए हैं. राज्य परिवहन आयुक्त अविनाश ढकाने ने कहा कि शमन शुल्क में बढ़ोतरी से दुर्घटनाओं में कमी आएगी और नागरिकों के बीच अनुशासन सुनिश्चित होगा.Also Read - Maharashtra Local Polls Result: महाराष्ट्र नगर पंचायत चुनाव के नतीजे में BJP सबसे बड़ी पार्टी, जानें किसे मिली कितनी सीटें

ढकाने ने कहा, ‘‘यह समग्र सड़क सुरक्षा में सुधार करने, मृत्यु दर को कम करने और लोगों के बीच बेहतर सड़क अनुशासन सुनिश्चित करने में मदद करेगा.’’ एमएमवीडी के अधिकारी के मुताबिक राज्य सरकार ने एक सितंबर, 2019 से लागू हुए मोटर वाहन (संशोधन) अधिनियम में परिभाषित जुर्माने की तुलना में कई अपराधों के मामले में शमन शुल्क कम कर दिया है. Also Read - Driving Licence: मुंबई में अब ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना होगा आसान! RTO में इस पहल की हो रही शुरुआत

हालांकि, उस समय महाराष्ट्र सरकार संशोधित अधिनियम के अनुसार यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों को भारी जुर्माने से दंडित करने के पक्ष में नहीं थी. अधिसूचना के अनुसार, विभिन्न अपराधों के लिए शमन शुल्क 200 रुपये से एक लाख रुपये तक कर दिया गया है. Also Read - Salman Khan ने पड़ोसी पर किया मानहानि का केस, कोर्ट का अंतरिम आदेश देने से इनकार, यूट्यूब, FB, ट्विटर और गूगल भी हैं पक्षकार

(इनपुट भाषा)