नागपुर: राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के मुख्य प्रवक्ता नवाब मलिक (Nawab Malik) ने कहा कि कांग्रेस (Congress) के बिना कोई संयुक्त विपक्ष नहीं हो सकता, लेकिन संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (UPA) के बाहर की पार्टियों को भी ऐसे गठबंधन का हिस्सा होना चाहिए. कांग्रेस और विपक्ष को लेकर ये सवाल और चर्चा इसलिए भी गर्म है क्योंकि ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने यूपीए (UPA) के अस्तित्व को मानने से इनकार कर दिया था. मुंबई में अपने दौरे के दौरान तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ममता बनर्जी ने कहा था कि “अब कोई संप्रग नहीं है.” ममता बनर्जी ने इसके अलावा कांग्रेस नेतृत्व पर भी सवाल खड़ा किया था.Also Read - UP Assembly Election 2022: सपा चाहती है ममता बनर्जी उनके लिए करें प्रचार, पार्टी के नेता TMC प्रमुख से आज करेंगे मुलाकात

नवाब मलिक ने यहां हवाई अड्डे पर संवाददाताओं से कहा कि राकांपा अध्यक्ष शरद पवार (Sharad Pawar) ने यह साफ कर दिया है कि कांग्रेस के बिना विपक्षी एकता नहीं हो सकती. मंत्री ने कहा कि इसके साथ ही विपक्ष के लगभग 150 लोकसभा सदस्य हैं, जो संप्रग के सदस्य नहीं हैं. उन्होंने कहा, “हमें विपक्ष को साथ लाना है. शरद पवार इस पर काम करने के लिए तैयार हैं.” Also Read - UP Election 2022: तीसरे व चौथे चरण के लिए उम्मीदवारों के नाम पर BJP में मंथन, चार घंटे चली मीटिंग

भाजपा के खिलाफ विपक्षी गठबंधन का कौन नेतृत्व करेगा इस सवाल पर नवाब मलिक ने कहा कि शरद पवार ने साफ-साफ कहा था कि सामूहिक नेतृत्व होगा. बता दें कि प्रशांत किशोर भी कांग्रेस के नेतृत्व पर सवाल उठा चुके हैं. Also Read - UP Election 2022: आगरा में 6 उम्मीदवारों ने चुनाव के लिये नामांकन किया, एक ट्रांसजेंडर भी मैदान में