पुणे: महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने शुक्रवार को यहां एक कार्यक्रम के दौरान एक महिला साइकिल चालक के चेहरे से मास्क उतार दिया. राज्यपाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर शहर में आयोजित साइकिल रैली को झंडी दिखाकर रवाना किया. सोशल मीडिया पर सामने आए एक वीडियो में कोश्यारी एक महिला प्रतिभागी को पारंपरिक टोपी ‘पुनेरी पगड़ी’ पहनाकर सम्मानित करते हुए दिखे. इसके बाद राज्यपाल ने महिला का मास्क ठुड्डी तक खींच दिया ताकि फोटोग्राफर और दर्शक उसका पूरा चेहरा देख सकें.Also Read - समीर वानखेड़े ने मुंबई पुलिस कमिश्‍नर को लिखा पत्र, मुझे गलत उद्देश्यों से फंसाने के लिए कोई कानूनी कार्रवाई न की जाए

दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन के मौके पर पुणे शहर के कोथरुड इलाके में छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा और बालगंधर्व मंदिर में झांसी की रानी की प्रतिमा के बीच साइकिल रैली का आयोजन किया गया था. महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने इस रैली की शुरुआत की. Also Read - नवाब मलिक ने फिर समीर वानखेड़े पर हमला बोला- जब से NCB में आए हैं, वे पहले ही दिन से फिल्म इंडस्‍ट्री को टारगेट कर रहे

एक अन्य कार्यक्रम में घटना के बारे में पत्रकारों द्वारा पूछे जाने पर उप मुख्यमंत्री अजित पवार ने कहा कि राज्यपाल के कार्यों पर टिप्पणी करना उनके लिए उचित नहीं होगा. उप मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘वह सबको (पद की) शपथ दिलाते हैं. हमें शपथ दिलाते समय अगर वह हमसे मास्क हटाने के लिए कहते तो हमें सुनना होगा. यदि हम ऐसा नहीं करते हैं तो वह कह सकते हैं कि आपका शपथ ग्रहण मान्य नहीं है.’’ Also Read - बॉलीवुड एक्‍ट्रेस नोरा फतेही को लग्जरी कार गिफ्ट में दी थी, ठगी के आरोपी सुकेश चंद्रशेखर का दावा

(इनपुट भाषा)