मुम्बई: वायुसेना ने महाराष्ट्र के ठाणे जिले में भारी बारिश के बाद आयी बाढ़ से विभिन्न क्षेत्रों में फंसे 100 से अधिक लोगों को बाहर निकालने के लिए शनिवार को बचाव अभियान शुरू किया. अधिकारियों के मुताबिक, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल, स्थानीय पुलिस, अग्निशमन, आपदा प्रबंधन बल के कर्मी भी बचाव अभियान में लगे हैं. Also Read - Palghar mob lynching case: कोर्ट ने गिरफ्तार 89 लोगों को जमानत दी, बताई ये वजह

Also Read - मुंबई में पति ने पत्‍नी को लोकल ट्रेन से दिया धक्‍का, नीचे गिरने पर हुई मौत, दो माह पहले की थी शादी

  Also Read - प्‍लेबैक सिंगर के एक ट्वीट पर दिग्‍गज मंत्री का खुलासा, उसकी बहन से रिश्‍ते में रहा हूं, पैदा हुए बच्‍चों का 'प‍िता' भी हूं

राज्य आपदा नियंत्रण कक्ष के एक अधिकारी ने बताया कि यहां से करीब 65 किलोमीटर दूर बदलापुर शहर में एक पेट्रोल पंप पर कम से कम 70 लोग फंसे हैं जबकि 46 किलोमीटर दूर शहाड में एक निजी रिसोर्ट में 45 लोग फंसे हैं. शुक्रवार रात से हो रही बारिश के कारण उल्हास नदी उफना गई और बदलापुर व आसपास के कई इलाकों में सड़कों पर पानी भरने लगा. अधिकारी ने कहा कि हमें पेट्रोल पंप की छत पर फंसे लोगों को हेलीकॉप्टर से निकालने के लिए ग्यारह बजे कॉल आयी. उसके बाद भारतीय वायुसेना की मदद से बचाव अभियान शुरू किया गया.

 

मुंबई के पास महालक्ष्मी एक्सप्रेस में फंसे सभी 700 यात्रियों को सुरक्षित बचाया गया

उन्होंने बताया कि वहां और शहाड के रिसोर्ट के लिए वायुसेना ने एक-एक हेलीकॉप्टर भेजा है. उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय आपदा मोचन बल, स्थानीय पुलिस, अग्निशमन, आपदा प्रबंधन बल के कर्मी भी बचाव अभियान में लगे हैं. (इनपुट एजेंसी)