Maharashtra Lockdown Latest News: देश के कई हिस्सो में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं ऐसे में लॉकडाउन को लेकर जोरों से बातचीत चल रही है. इस बीच महाराष्ट्र सरकार में कैबिनेट मंत्री विजय वेट्टीवार ने कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण और लॉकडाउन को लेकर बड़ी बात कही है. क्या महाराष्ट्र सरकार फिर से लॉकडाउन लगाने जा रही है इस पर मंत्री वेट्टीवार ने कहा कि सरकार अगले आठ दिनों में इस बात पर फैसला करेगी.Also Read - Gyanvapi Case LIVE Updates: आज का दिन है खास-वाराणसी कोर्ट में पेश की जाएगी सर्वे रिपोर्ट, सुप्रीम कोर्ट में भी होगी सुनवाई

मंत्री विजय वेट्टीवार ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में संक्रमण तेजी से फैला है जिससे बचने के सभी उपाय किए जा रहे हैं लेकिन आने वाले 8 दिनों में कोरोना के संक्रमण की रफ्तार और मरीजों की संख्या को देखने के बाद सरकार लॉकडाउन के बारे में फैसला करेगी. उन्होंने कहा कि यह भी देखना पड़ेगा कि अगर दोबारा लॉकडाउन लगता है तो इस बारे में भी सोचना पड़ेगा कि पाबंदियां किस प्रकार की हों. Also Read - MP Local Body Election 2022: सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला-ओबीसी आरक्षण के साथ ही होंगे निकाय चुनाव

सरकार की तरफ से कहा जा रहा है कि नवंबर माह में दीपावली और धनतेरस जैसे त्यौहारों की वजह से लोग भारी संख्या में बाहर निकले जिससे संक्रमण फैला जो सरकार के लिए चिंता का विषय बन गया है. वहीं दूसरी तरफ सरकार के लिए दूसरे प्रदेशों खासतौर पर दिल्ली से आने वाले यात्रियों को लेकर भी चिंतित बनी हुई है. अब सरकार फिर से अंतरराष्ट्रीय फ्लाईट से आने वाले लोगों को क्वारंटीन करने का प्लान बना रही है. लोकल ट्रेनों में जिस तरह से महिलाओ की संख्या बढ़ी, संरकार उसको लेकर भी चिंतित है Also Read - राजीव गांधी हत्याकांड मामले में सुप्रीम कोर्ट ने दिया दोषी पेरारिवलन की रिहाई का आदेश

देश में कोरोना के दोबारा बढ़ते मामलों पर अब सुप्रीम कोर्ट भी गंभीर हो गया है. सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली, गुजरात, महाराष्ट्र और असम में तेजी से बढ़ रहे संक्रमण के मामलों के प्रबंधन और मरीजों को दी जाने वाली सुविधाओं पर राज्यों से स्टेटस रिपोर्ट मांगी है

इससे पहले कल ही सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा था कि लॉकडाउन कोई कारगर उपाय नहीं है इसलिए लोगों को नियमों का पालन करना चाहिए. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को राज्य के लोगों से कोविड-19 के विरूद्ध अपनी सावधानियां कम नहीं करने तथा दूसरे लॉकडाउन से बचने के लिए स्वास्थ्य सुरक्षा नियमों का कड़ाई से पालन करने की अपील की.

उन्होंने कहा कि वैसे उन्हें रात का कर्फ्यू लगाने की सलाह दी गयी है लेकिन वह नहीं मानते कि ऐसी पाबंदियों को लागू कर कुछ भी हासिल किया जा सकता है. उन्होने कहा कि लॉकडाउन की शर्तों में ढील देने का मतलब यह नहीं है कि महामारी चली गयी , इसलिए लोगों को सावधान रहने की जरूरत है.

एक वेबकास्ट के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि वैसे तो बड़े पैमाने पर लोग कोविड-19 सुरक्षा नियमों का पालन कर रहे हैं लेकिन अब भी कई अन्य मास्क लगाने के निर्देश का पालन नहीं कर रहे हैं और भीड़-भाड़ वाली जगहों पर घूम रहे हैं.