Maharashtra Lockdown News: कोरोना वायरस संक्रमण के पिछले कुछ दिनों में बढ़ते मामलों के बीच महाराष्ट्र के औरंगाबाद शहर में रात 11 बजे से सुबह छह बजे तक का कर्फ्यू (Aurangabad Night Curfew) लगा दिया गया है. नाइट कर्फ्यू आठ मार्च तक जारी रहेगा. वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने मंगलवार को इसकी जानकारी दी. पुलिस आयुक्त निखिल गुप्ता ने बताया कि दिन में प्रशासनिक अधिकारियों की नागरिक निकाय एवं पुलिस के अधिकारियों के साथ बैठक हुई. Also Read - MP के इन दो बड़े शहरों में अगले तीन में कम नहीं हुए कोरोना के केस तो फिर 8 मार्च से...

उन्होंने बताया कि बताया कि इसके बाद यह निर्णय किया गया. उन्होंने बताया कि औद्योगिक क्षेत्र, मेडिकल एवं आपात सेवाओं तथा सार्वजनिक परिवहन को इससे छूट दी गई है. गौरतलब है कि औरंगाबाद जिले में मरीजों की संख्या 50 हजार के करीब पहुंच रही है. Also Read - क्या महाराष्ट्र में फिर है Lockdown की आहट! बेलगाम हुए कोरोना के 10 हजार से ज्यादा मामले आए सामने

उधर, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य के मुख्य सचिव को मंत्रालय में दो पाली में कामकाज के लिए एक योजना तैयार करने को कहा है. पिछले सप्ताह नीति आयोग की बैठक में ठाकरे ने कोरोना वायरस महामारी के समय भीड़ भाड़ कम करने के लिए कार्यालय में काम काज के समय में बदलाव की जरूरत पर चर्चा की थी. एक आधिकारिक बयान में कहा गया कि राज्य में कोविड-19 के मामलों में वृद्धि के कारण ठाकरे ने मुख्य सचिव संजय कुमार को इस पर गौर करने को कहा है कि किस विभाग में कर्मचारी पूरी क्षमता के साथ घर से काम कर सकते हैं. Also Read - Maharashtra में कम नहीं हो रहा कोरोना का कहर, बीते 24 घंटों में करीब 9 हजार केस; पालघर में तीन साप्ताहिक बाजार बंद

मुख्यमंत्री अपने आधिकारिक आवास ‘वर्षा’ में राजपत्रित अधिकारियों की एसोसिएशन के प्रतिनिधियों के साथ बैठक को संबोधित कर रहे थे. सरकार का प्रशासनिक कार्यालय दक्षिण मुंबई में है. मुख्यमंत्री ने कहा कि महाराष्ट्र को नयी कार्य संस्कृति की पहल करनी चाहिए.

बयान में मुख्यमंत्री के हवाले से कहा गया, ‘हमें इस नई कार्य शैली की शुरुआत वहां से करनी चाहिए जहां पूरी क्षमता के साथ काम हो सकता है और कोविड-19 का खतरा भी कम हो.’ ठाकरे ने मुख्य सचिव से मंत्रालय के सभी अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए टीकाकरण की योजना तैयार करने को कहा क्योंकि अग्रिम मोर्चे के कर्मचारी प्राथमिकता में हैं.

(इनपुट: भाषा)