Maharashtra Lockdown Latest Update: महाराष्ट्र में कोविड-19 के डेल्टा प्लस स्वरूप के मामले बढ़ने से रोकने के लिए राज्य सरकार ने शुक्रवार को नये दिशानिर्देश (Maharashtra Lockdown Guideline) जारी किये. राज्य सरकार ने कहा है कि रैपिड एंटीजन या अन्य जांच के बजाय आरटी-पीसीआर जांच के आधार पर पाबंदियों को घटाया-बढ़ाया जाएगा तथा डेल्टा प्लस स्वरूप को चिंता का विषय बताया.Also Read - PFI के वीडियो में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे का मामला, FIR में पुणे पुलिस का यू टर्न, देशद्रोह का आरोप लगाने से इनकार

एक सरकारी अधिसूचना के तहत जारी नये दिशानिर्देशों के मुताबिक प्रशासनिक ईकाइयों में पाबंदियां एक निर्धारित स्तर (कम से कम तीन) तक बनी रहेंगी. अधिसूचना में राज्य की 70 प्रतिशत आबादी का टीकाकरण करने पर भी जोर देने को कहा गया है. सरकार के इस कदम से संकेत मिलता है कि कोरोना वायरस के डेल्टा प्लस स्वरूप से कुछ लोगों के संक्रमित पाये जाने के बाद मामलों में किसी तरह की वृद्धि होने पर पाबंदियां कड़ी कर दी जाएंगी. Also Read - Bihar: RJD नेता शिवानंद तिवारी PFI की नारेबाजी को लेकर बोले,"पाकिस्तान जिंदाबाद" के नारे सिर्फ विरोध का एक हिस्सा है

गौरतलब है कि डेल्टा प्लस स्वरूप को केंद्र ने चिंता का विषय बताया है. अधिसूचना में इस महीने की शुरूआत में महाराष्ट्र सरकार द्वारा घोषित पांच स्तर की अनलॉक योजना में भी संशोधन किया गया है. Also Read - PFI के विरोध प्रदर्शन में पुणे में लगे ''पाकिस्तान जिंदाबाद'' के नारे , सामने आया वीडियो, फडणवीस बोले- बख्शा नहीं जाएगा

महाराष्ट्र सरकार ने पूरे राज्य को लेवल-3 में रख दिया है. डेल्टा प्लस वेरियंट के मामलों को देखते हुए राज्य सरकार ने ये फैसला किया है.

महाराष्ट्र सरकार की नई गाइडलाइन

  1. पूरा महाराष्ट्र अब लेवल-3 की कैटेगरी में
  2. लेवल-1 और लेवल-2 वाले जिले स्वतः लेवल 3 में आ गए हैं
  3. जहां लेवल-1 और लेवल-2 के तहत छूट थी वो वापस लेकर लेवल-3 के नियम लागू होंगे
  4. अब मॉल और थिएटर खोलने पर रोक
  5. रेस्टारेंट 50 फीसदी क्षमता के साथ शाम चार बजे तक खुले रहेंगे
  6. लोकल ट्रेनों में सफर मेडिकल स्टाफ, अत्यावश्यक सेवाओं और महिलाओं तक सीमित
  7. पब्लिक प्लेस और गार्डन वॉकिंग और साइक्लिंग के लिए सुबह पांच से सुबह नौ बजे तक
  8. सरकारी दफ़्तरों में सिर्फ 50 फीसदी उपस्थिति की इजाजत
  9. शादी समारोह में अधिकतम 50 लोगों के मौज़ूद रहने की छूट
  10. अंतिम संस्कार में अधिकतम 20 लोगों के शामिल होने की छूट