Maharashtra Lockdown Latest Update: कोरोना की दूसरी लहर के बाद देश में कोरोना की तीसरी लहर का खतरा मंडरा रहा है. केरल और महाराष्ट्र के कुछ शहरों में कोरोना के मामलों में लगातार बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है. इन सबके बीच गणेश उत्सव समेत कई त्योहार आने वाले हैं. त्योहारों की वजह से सरकार की चिंता और बढ़ गई है. केरल में ओणम के बाद कोविड मरीजों की संख्या में भारी इजाफा देखने को मिला. इसलिए गणेश उत्सव (Ganeshotsav) को लेकर सरकार तमाम तरह के ऐहतियात बरत रही हैं. एक दिन पहले महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने कहा था कि त्योहार बाद में भी मनाया जा सकता है.Also Read - Maharashtra Corona Update: महाराष्ट्र में फिर बढ़े कोरोना के मरीज, बीते 24 घंटे में 3,608 नए मामले और 48 की मौत

इन सबके बीच महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे (Rajesh Tope) का भी बयान सामने आया है. राजेश टोपे के हवाले से न्यूज एजेंसी ANI ने कहा, ‘केरल में ओणम त्योहार के दौरान भीड़ की वजह से कोविड के मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ था. इसे देखते हुए राज्य सरकार गणेश विसर्जन के लिए तैयारियां कर रही हैं और लोगों से भी अपील करती है कि कोविड दिशा निर्देशों का पालन करें. Also Read - Maharashtra News: महाराष्ट्र में कोरोना की तीसरी लहर को लेकर राजेश टोपे का बड़ा बयान- जानें क्या दिया अपडेट...

Also Read - Mumbai Corona News: क्या मुंबई ने जीत ली कोरोना से जंग? सीरो सर्वे में 86 फीसदी आबादी में एंटीबॉडी विकसित

टोपे ने कहा कि भीड़ जमा होने से संक्रमण फैलने की संभावना बढ़ जाती है. अन्य राज्यों में ऐसा देखा गया है.

उधर, मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर ने कहा, कोरोना की दूसरी लहर से हमें बहुत कुछ सीखने को मिला है. मैं कहीं भी नहीं जाने वाली हूं, क्योंकि तीसरी लहर आ नहीं रही है आ गई है. पाबंदियां लगाने का हक तो राज्य सरकार को है. जरूरी होगा तो मुख्यमंत्री निर्णय लेंगे. लोगों से विनती है कि खुद को संभालें.

एक दिन पहले उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘हम बाद में पर्व मना सकते हैं. हम अपने नागरिकों की जिंदगी और स्वास्थ्य को प्राथमिकता दें. दैनिक मामलों में वृद्धि के मद्देनजर हालात नियंत्रण से बाहर जा सकते हैं.’ उन्होंने कहा, ‘कौन पर्व मनाने और धार्मिक कार्यक्रमों पर रोक लगाना चाहेगा? लेकिन लोगों की जिंदगी अहम है.’

मुख्यमंत्री ने कहा कि आने वाले त्योहारों के समय अहम और चुनौतीपूर्ण हैं. उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी राजनीतिक दलों की है कि स्थिति नियंत्रण से बाहर नहीं जाए. ठाकरे ने कहा, ‘कोविड-19 की तीसरी लहर आपके दरवाजे पर खड़ी है. केरल में रोजाना 30 हजार मामले आ रहे हैं. यह खतरनाक संकेत हैं और अगर हमने इसे गंभीरता से नहीं लिया तो महाराष्ट्र को भारी कीमत चुकानी पड़ेगी.

(इनपुट: ANI)