Maharashtra Lockdown Update: कोरोना की दूसरी लहर का कहर कम होने के बाद ज्यादातर राज्यों में लॉकडाउन पाबंदियों में (Lockdown News) ढील दे दी गई है. हालांकि संभावित तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए तमाम तरह के एहतियात भी बरते जा रहे हैं. आगामी त्योहारों को देखते हुए सरकार बार-बार लोगों के अपील कर रही है कि वह कोरोना गाइडलाइंस (Covid Guidelines) का अच्छी तरह से पालन करें. महाराष्ट्र में भी कोरोना को देखते हुए तमाम तरह की सावधानी बरती जा रही है. इन सबके बीच राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे (Rajesh Tope) ने तीसरी लहर (Corona Third Wave) को लेकर बड़ा बयान दिया है.Also Read - बिना नाम लिए उद्धव ठाकरे ने परमबीर सिंह पर साधा निशाना, बोले- शिकायतकर्ता लापता हो गया है

मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि त्योहारों के मौसम में भीड़ के कारण महाराष्ट्र में कोरोना के मामलों में वृद्धि देखी जा सकती है, लेकिन तीसरी लहर आने वाली नहीं है. इस महीने की शुरुआत में वायरोलॉजिस्ट डॉ. गगनदीप कांग ने दावा किया था कि वायरस का अगर कोई नया स्वरूप सामने नहीं आया तो तीसरी लहर दूसरी के जितनी मजबूत होने की संभावना बेहद कम है. यह इसलिए क्योंकि अधिकांश आबादी या तो संक्रमित हो चुकी हैं, या लोगों को टीका लगाया जा चुका है. Also Read - Special Vaccine Drive: महाराष्ट्र के कॉलेजों में भी 25 अक्टूबर से 2 नवंबर के बीच चलेगी वैक्सीन की स्पेशल ड्राइव

इन सबके बीच टोपे ने भी ऐसा ही बयान दिया है. टोपे ने संवाददाताओं से बात करते हुए कहा कि महाराष्ट्र में अब तक संभावित तीसरी लहर का कोई संकेत नहीं है. उन्होंने यह भी कहा कि यदि हम टीकाकरण अभियान की गति बढ़ाते हैं तो COVID-19 के प्रसार को रोका जा सकता है. Also Read - Mumbai Local Update: राजेश टोपे का बड़ा बयान- दिवाली के बाद इन लोगों को भी मिल सकती है मुंबई लोकल में सफर की इजाजत

पिछले हफ्ते, बीएमसी द्वारा किए गए एक सीरो सर्वे में पता चला कि मुंबई की 86.64 प्रतिशत आबादी ने कोरोना वायरस के खिलाफ एंटीबॉडी विकसित कर ली है. सर्वेक्षण, महामारी की शुरुआत के बाद से 12 अगस्त और 9 सितंबर, 2021 के बीच आयोजित किया गया था. इसके अलावा, आंशिक रूप से या पूरी तरह से टीकाकरण करने वालों में से 90.26 प्रतिशत में एंटीबॉडी पाए गए, जबकि गैर-टीकाकरण आबादी में अनुपात 79.86 प्रतिशत था.

मालूम हो कि एक दिन पहले महाराष्ट्र में कोरोना के 2,583 नए मामले सामने आए, जो इस साल 9 फरवरी के बाद सबसे कम थे. इस दौरान 28 मौतें हुईं, जबकि 3,836 मरीज ठीक हुए. महाराष्ट्र में COVID-19 संक्रमणों की संख्या अब 65,24,498 हो गई है और मरने वालों की संख्या बढ़कर 1,38,546 पहुंच गई है. राज्य में फिलहाल 41,672 एक्टिव मामले हैं.