नई दिल्लीः देश में कोरोना के लगातार मामले बढ़ते जा रहे हैं. अब तक पांच हजार से अधिक लोग कोरोना वायरस के संक्रमण के शिकार हो चुके हैं. देश में इस खतरनाक वायरस से सबसे अधिक महाराष्ट्र प्रभावित है. महाराष्ट्र में अब तक संक्रमितों की संख्या एक हजार पार कर चुकी है. इस समय एशिया की सबसे बड़ी झुग्गी बस्ती एरिया धारावी में भी कोरोना के लगातार मामले आ रहे जो कि सरकार के लिए एक नई चुनौती बनी हुई है. Also Read - एक बार फिर यूएई ने बीसीसीआई के सामने रखा IPL आयोजन का प्रस्ताव

बुधवार को धारावी में कोरोना के दो नए पॉजिटिव मामले सामने आए. अब धारावी में संक्रमण की संख्या नौ पहुंच गई है. घनी बस्ती होने के कारण यहां के लोग सोशल डिस्टेंसिंग का ठीक प्रकार से पालन नहीं कर पा रहे हैं और सरकार को डर है कि अगर यहां कोरोना का संक्रमण ज्यादा फैला तो स्थिति और भी ज्यादा गंभीर हो जाएगी. Also Read - आक्रामक स्वभाव के लिए मशहूर कगीसो रबाडा ने कहा- मैं जल्दी आपा नहीं खोता हूं

एक निकाय अधिकारी ने बताया कि नए मरीजों में मुकुंद नगर इलाके का 25 वर्षीय शख्स और धानवाडा चॉल का 35 वर्षीय शख्स शामिल है. उन्होंने बताया कि मुकुंद नगर इलाके का मरीज कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए 49 वर्षीय व्यक्ति के संपर्क में आया था और उसे पृथक केंद्र में रखा गया है. Also Read - महाराष्ट्र में कोरोना वायरस से अब तक 3,000 की मौत, मामले 83,000 के करीब पहुंचे

अधिकारी ने बताया, ‘‘धानवाडा चॉल में संपर्क में आए लोगों का पता लगाया जा रहा है जहां एक अन्य मामला सामने आया है.’’ उन्होंने बताया कि प्रोटोकॉल के अनुसार वे इलाके को सील करने जा रहे हैं. धारावी एशिया की सबसे बड़ी मलिन बस्ती में से एक है जहां करीब 15 लाख लोग छोटी झुग्गियों में रहते हैं जिससे यह इस महानगर का सबसे भीड़भाड़ वाला इलाका है.