Auto Driver Gets Reward For Honesty: पुलिस ने उस ऑटो रिक्शा चालक को सम्मानित किया जिसने महाराष्ट्र के नागपुर शहर में एक सवारी को उसका बैग वापस कर दिया था. बैग में 55 हजार रुपये थे. एक अधिकारी ने गुरुवार को बताया कि ऑटोरिक्शा चालक 44 वर्षीय गंजाम नामदेव नारनावरे को बुधवार को उसकी ईमानदारी के लिए तहसील पुलिस ने सम्मानित किया.Also Read - महाराष्ट्र के ठाणे जिले की फैक्ट्री में केमिकल लीक, 34 लोग अस्पताल में भर्ती; जांच के आदेश

पुलिस के अनुसार, रामनगर निवासी अनीता अतुल शेंडे (49) मंगलवार को गांधीबाग इतवारी बाजार जाने के लिए नारनावरे के ऑटोरिक्शा में बैठी थी. अधिकारी ने बताया कि ऑटोरिक्शा से उतरते समय, शेंडे अपना बैग वाहन में ही भूल गईं जिसमें 55,000 रुपये थे. जब उन्हें पता चला कि वह बैग ऑटो में भूल गई है, तो उन्होंने तहसील थाने में शिकायत दर्ज कराई. Also Read - Crime News: ब्वॉयफ्रेंड ने दोस्तों के साथ मिलकर गैंगरेप को दिया अंजाम, मामले का ऐसे हुआ खुलासा...

अधिकारी ने बताया कि नारनावरे ने गाड़ी में बैग देखा तो उसने सवारी का पता लगाने की कोशिश की और बाद में तहसील थाने जाकर बैग पुलिस को सौंप दिया. अधिकारी ने बताया कि उसकी ईमानदारी से खुश होकर पुलिस ने नारनावरे को सम्मानित किया और सवारी ने उसे 5,000 रुपये उपहार के रूप में दिए. Also Read - Maharashtra News: महाराष्ट्र में कोरोना का कहर जारी, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कही ये बड़ी बात...

(इनपुट: भाषा)