Maharashtra News: पुलिस ने मुंबई के घाटकोपर में फर्जी कॉल सेंटर का भंडाफोड़ कर 11 लोगों को गिरफ्तार किया है. यह गिरोह ऋण बकाए के भुगतान के नाम पर कथित रूप से लोगों को ठगने का काम कर रहा था. गिरफ्तार हुए लोगों में छह महिलाओं शामिल हैं. एक अधिकारी ने गुरुवार को बताया कि 61 साल के एक मुंबई निवासी की शिकायत के आधार पर जांच के बाद पुलिस ने कॉल सेंटर पर छापा मारा और परिसर से 132 सिम कार्ड, 11 कम्प्यूटर और सात मोबाइल फोन बरामद किए.Also Read - Maharashtra: नासिक में ऑनलाइन क्लास के लिए मोबाइल नहीं होने पर 11वीं की छात्रा ने की खुदकुशी

शिवाजी पार्क पुलिस थाने के एक अधिकारी ने बताया कि यह कॉल सेंटर पिछले साल अप्रैल से काम कर रहा था और आरोपी कोविड-19 वैश्विक महामारी का फायदा उठाकर उन लोगों को कथित रूप से ठग रहे थे, जिन्होंने बैंकों और अन्य वित्तीय कंपनियों से ऋण लिया है. अधिकारी ने बताया कि ये लोग उन कंपनियों के कर्मी बनकर उधार लेने वालों को फोन करते थे और उन्हें बकाया राशि की तुलना में बेहद कम राशि लेकर ऋण का निपटान करने का प्रस्ताव देते थे. Also Read - Maharashtra News: महाराष्ट्र में पुल से गिरी कार, BJP MLA के बेटे सहित 7 मेडिकल छात्रों की दर्दनाक मौत

एक शिकायतकर्ता ने पिछले महीने पुलिस में शिकायत की कि उससे 39,200 रुपए ठगे गए हैं. शिकायकर्ता के अनुसार, उसने लॉकडाउन के कारण आमदनी कम होने पर अपने ऋण के भुगतान को स्थगित करने का अनुरोध किया था. पिछले साल नंवबर में एक व्यक्ति ने उसे फोन करके 34,000 रुपए के उसके ऋण भुगतान को 17,000 रुपए में निपटाने का प्रस्ताव रखा. शिकायतकर्ता के इस पर राजी हो जाने के बाद आरोपी ने राशि एकत्र करने के लिए एक व्यक्ति उसके घर भेजा. Also Read - Mumbai Local Train Latest News: मुंबई में 14 घंटे तक नहीं चलेंगी लंबी दूरी की लोकल ट्रेनें, जानिए क्या है वजह

इसी तरह शिकायतकर्ता ने आरोपी को एक और ऋण के 1.4 लाख रुपए के बकाए के भुगतान को निपटाने के लिए 21,700 रुपए दिए. पिछले महीने उस वित्तीय कंपनी का प्रतिनिधि शिकायतकर्ता के घर आया, जिससे उसने ऋण लिया था और कंपनी के प्रतिनिधि ने उससे ऋण के बकाए का भुगतान करने को कहा. अधिकारी ने बताया कि शिकायतकर्ता ने उसे ऋण के निपटान का पत्र दिखाया, जिसके बाद यह पता चला कि यह पत्र फर्जी था.

उन्होंने बताया कि पुलिस शिकायतकर्ता से धन लेने वाले एक आरोपी को पकड़ने में कामयाब रही और आरोपी से मिली जानकारी के आधार पर कॉल सेंटर पर छापा मारकर 10 अन्य लोगों को पकड़ा गया. पुलिस ने बतया कि आरोपियों के खिलाफ संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है.

(इनपुट: भाषा)