मुंबई की एक विशेष सीबीआई अदालत ने सोमवार को कुख्यात अपराधी छोटा राजन (Chhota Rajan) और तीन अन्य को जबरन वसूली (Extortion Case) के एक मामले में दो साल कैद की सजा सुनाई. विशेष सरकारी अभियोजक प्रदीप घरात ने कहा कि सीबीआई न्यायाधीश ए टी वानखेड़े ने 2015 के इस मामले में चारों दोषियों पर पांच-पांच हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया. राजन और अन्य को बिल्डर नंदू वाजेकर को धमकाने और 26 करोड़ रुपये की वसूली की कोशिश करने के मामले में सजा सुनाई गई है.Also Read - Mumbai: पत्नी ने पढ़ाई नहीं करने पर बच्चों को पीटा तो पति ने मार दिया चाकू

अदालत के आदेश के अनुसार वाजेकर ने 2015 में पुणे में एक भूमि खरीदी थी और एजेंट परमानंद ठक्कर को दो करोड़ रुपये कमीशन देने पर सहमति जताई थी. हालांकि ठक्कर ने वाजेकर से और रकम मांगी और जब बिल्डर ने इससे इनकार कर दिया तो एजेंट ने राजन से संपर्क साधा. Also Read - Mumbai School News: मुंबई में अब 15 दिसंबर से खुलेंगे पहली से 7वीं तक के स्कूल, BMC का बड़ा फैसला

राजन ने अपने गुर्गों को वाजेकर के दफ्तर भेजा और उससे 26 करोड़ रुपये मांगे तथा पैसा नहीं देने पर जान से मारने की धमकी दी. इस मामले में राजन के साथ सुरेश शिंदे, लक्ष्मण निकम और सुमित विजय मात्रे को दोषी ठहराया गया है. Also Read - Maharashtra News: महाराष्ट्र सरकार के दो साल बेमिसाल, सीएम उद्धव ठाकरे ने खुश होकर कही ये बात....

(इनपुट: भाषा)