Maharashtra News:महाराष्ट्र के गृह विभाग ने मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह पर बड़ी कार्रवाई की है. उनका वेतन रोक दिया गया है और परमबीर सिंह को भगोड़ा घोषित करने का प्रस्ताव दिया गया है. गृह विभाग ने इस मामले में इंटेलिजेंस ब्यूरो को सूचित किया है कि आईपीएस अधिकारी परमबीर सिंह का पता नहीं चल रहा है और उनकी तलाश के लिए अब केंद्रीय एजेंसी की मदद भी मांगी गई है.Also Read - Mumbai: पत्नी ने पढ़ाई नहीं करने पर बच्चों को पीटा तो पति ने मार दिया चाकू

परमबीर सिंह को भगोड़ा घोषित करने की प्रक्रिया शुरू Also Read - Mumbai Schools Reopen: मुंबई में कल से नहीं 15 दिसंबर से खुलेंगे प्राइमरी स्कूल, BMC का बड़ा फैसला

गृह विभाग के अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक, मुंबई के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह को भगोड़ा घोषित करने की कानूनी प्रक्रिया शुरू हो गई है. विभाग ने कानूनी औपचारिकताओं का पालन करते हुए कानूनी राय मांगी है. बता दें कि परमबीर सिंह के मई 2021 से लापता होने के बाद  पहले ही उन्हें निलंबित करने का प्रस्ताव दिया था. गृह विभाग ने उनके खिलाफ एंटीलिया विस्फोटक मामले में हुई सुरक्षा में चूक के लिए विभागीय जांच भी शुरू कर दी है. Also Read - Delhi: अंतरराज्यीय साइबर ठगों के गैंग का भंडाफोड़, क्लिकजैकिंग, सिम ब्लॉक कर लाखों उड़ा देते हैं ये लुटेरेे

गृह विभाग ने आईबी से लगाई मदद की गुहार

गृह विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि ‘हमने आईबी को सूचित किया है कि मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह का पता नहीं चल पा रहा है और उन्होंने तीन महीने से अधिक समय से काम करने की सूचना भी नहीं दी है. इसलिए अब हमने आईबी से मदद की गुहार लगाते हुए उन्हें फरार घोषित करने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी है और हम इसके लिए कानूनी राय ले रहे हैं.’

मई 2021 से लापता हैं परमबीर सिंह

परमबीर सिंह ने स्वास्थ्य कारणों से छुट्टी ली थी लेकिन उसके बाद ही वे  इस साल मई से लापता हैं. विभाग ने कहा कि सिंह को उनके चंडीगढ़ स्थित आवास पर कई पत्र भेजे गए और उनके ठिकाने के बारे में पूछताछ की गई, लेकिन उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं मिला है. बता दें कि मुंबई की ठाणे पुलिस ने जुलाई में परमबीर सिंह के खिलाफ लुकआउट नोटिस भी जारी किया है.