राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार (Sharad Pawar) ने महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ महाविकास आघाड़ी सरकार (Maharashtra Vikas Aghadi) में मतभेद की अटकलों के बीच मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) से मंगलवार को मुलाकात की. राज्य में शिवसेना, राकांपा, कांग्रेस की गठबंधन सरकार है. सूत्रों ने बताया कि दोनों नेताओं की यह मुलाकात उन अफवाहों के बीच हुई है कि शिवसेना अपने पुरानी सहयोगी भारतीय जनता पार्टी (BJP) के साथ सुलह करने पर विचार कर रही है. उन्होंने बताया कि पवार दक्षिण मुंबई के मालाबार हिल इलाके में स्थित मुख्यमंत्री के आधिकारिक बंगला, वर्षा गये.Also Read - Mumbai Fire: मुंबई के पवई इलाके में सुपरमार्केट में लगी आग, दमकल की 12 गाड़ियां मौके पर

उनकी यह मुलाकात राज्य विधानसभा के 2 दिवसीय सत्र से पहले हुई है, जो 5 जुलाई से होने वाला है. शिवसेना ने मंगलवार को पार्टी के विधायकों को एक व्हिप जारी कर दो दिनों के पूरे सत्र में शामिल होने को कहा. उल्लेखनीय है कि मराठा कोटा और अन्य पिछड़ा वर्ग को आरक्षण जैसे मुद्दों पर गठबंधन के साझेदार दलों के बीच सहमति नहीं है. Also Read - Maharashtra Politics Update: शिवसेना में 'बगावत की जंग' अब पहुंची संसद, उद्धव गुट ने लोकसभा में उठाया यह बड़ा कदम

महाराष्ट्र कांग्रेस प्रमुख नाना पटोले ने हाल में कहा था कि शिवसेना के साथ गठबंधन का एक ‘एक्सपायरी डेट’ है और अगले चुनाव में उनकी पार्टी (कांग्रेस) अकेले चुनाव लड़ेगी. वहीं, ठाकरे ने कांग्रेस की आलोचना करते हुए कहा था कि जो लोगों की समस्याओं का हल किये बिना अकेले चुनाव लड़ने की बात करेंगे, उन्हें लोग जूतों से मारेंगे. Also Read - Maharashtra News: नासिक में मुस्लिम आध्यात्मिक गुरु की गोली मारकर हत्या, सिर में मारी गई गोली

हालांकि, पवार ने हाल में भरोसा जताया था कि महाराष्ट्र में 2019 में सत्ता में आई MVA सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी और शिवसेना की सराहना करते हुए कहा था कि उस पर विश्वास किया जा सकता है.

(इनपुट: भाषा)