Pankaja Munde Praises Sharad Pawar: महाराष्ट्र भाजपा में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है. पिछले दिनों प्रदेश भाजपा के दिग्गज नेता एकनाथ खडसे के एनसीपी का दामन थामने के बाद एक और बड़े नेता को लेकर सुगबुगाहट तेज हो गई है. खडसे ने सार्वजनिक तौर पर पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के कामकाज की आलोचना कर पार्टी छोड़ने का ऐलान किया था. खडसे राज्य के एक कद्दावर नेता हैं और वह विधानसभा में विपक्ष के नेता भी रह चुके हैं. खडसे के बाद भाजपा के दिग्गज नेता रहे दिवंगत गोपीनाथ मुंडे की बेटी पंकजा मुंडे भी ‘बगावत’ की राह पर चलते दिख रही है.Also Read - Punjab Eections 2022: BJP ने 27 उम्मीदवारों की जारी की एक और List

वैसे भी फडणवीस और पंकजा के बीच मनमुटाव की बातें नई नहीं है. फडणवीस के पिछले कार्यकाल में पंकजा मुंडे मंत्री तो थीं लेकिन वह कई बार मुख्यमंत्री की सार्वजनिक तौर पर आलोचना भी कर चुकी हैं. Also Read - UP Elections 2022: अमित शाह ने बीजेपी के पक्ष में डोर-टू- डोर पर्चे बांटे, सपा-बसपा पर हमला किया

पंकजा मुंडे ने खुद भाजपा के भीतर सब कुछ ठीक नहीं चलने का संकेत दिया है. दरअसल, भाजपा की राष्ट्रीय सचिव और महाराष्ट्र सरकार में पूर्व मंत्री पंकजा मुंडे ने कोविड-19 संकट के समय में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार के कामकाज की खूब प्रशांस की है. पवार ने हाल ही में राज्य के बारिश और बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर नुकसान की समीक्षा की थी. मुंडे ने एक ट्वीट कर कहा- “बहुत अच्छा. आश्चर्य होता है कि कोरोना संकट के दौरान भी आपकी व्यस्तता कम नहीं हुई है.” Also Read - Rohilkhand Opinion Poll: रुहेलखंड में कैसा रहेगा जनता का मूड, चुनाव में किसका पलड़ा रहेगा भारी, जानिए

उन्होंने कहा, “मेरे पिता ने मुझे सिखाया था कि दलगत राजनीति से ऊपर उठकर मेहनतकश लोगों का सम्मान करना चाहिए.” पंकजा, भाजपा के दिवंगत नेता गोपीनाथ मुंडे की बेटी हैं. मीडिया रिपोर्ट में भी दावा किया जाता रहा है कि पंकजा, देवेंद्र फडणवीस के कामकाज करने के तरीके से संतुष्ट नहीं हैं. वह पार्टी में खुद को अलग-थगल महसूस कर रही हैं.

कहा जा रहा है कि जिस तरह से पंकजा मुंडे ने खुले दिल से एनसीपी के सर्वेसर्वा शरद पवार की तारीफ की है उससे इससे इनकार नहीं किया जा सकता कि वह आने वाले दिनों में एनसीपी का दामन थाम लें. वह इलाके में शरद पवार और एनसीपी के अन्य नेताओं के साथ कई बैठकों में शामिल हो चुकी हैं. उन्हों इस बारे में कुछ ट्वीट कर जानकारी दी है. एक ट्वीट में उन्होंने लिखा है- बैठक में वरिष्ठ नेता शरद पवार साहेब, सहकारिता मंत्री बालासाहेब पाटिल, मंत्री बालासाहेब थोराट, मंत्री धनंजय मुंडे, हर्षवर्धन पाटिल, सुगर एसोसिएशन के अध्यक्ष जयप्रकाश वंदेगांवकर और विभिन्न ट्रेड यूनियनों के प्रतिनिधि उपस्थित थे.