मंबई: भाजपा नेतृत्व वाली महाराष्ट्र सरकार ने फिल्म ‘सुपर30’ को राज्य माल एवं सेवा कर (जीएसटी) से मुक्त करने का मंगलवार को फैसला लिया. अधिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस की अध्यक्षता में की गई मंत्रिमंडल की बैठक में यह निर्णय लिया गया. बता दें कि फिल्म को बिहार, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और गुजरात के बाद दिल्‍ली में कर मुक्‍त किया जा चुका है.Also Read - Maharashtra Cinemas theaters Reopen: महाराष्ट्र में 22 अक्टूबर से खुलेंगे सिनेमा और थिएटर, इन नियमों का करना होगा पालन

फिल्म सुपर 30 पटना के गणितज्ञ आनंद कुमार की जिंदगी पर आधारित हैं, जो हर साल आईआईटी-जेईई प्रवेश परीक्षा के लिए गरीब परिवारों के 30 योग्य छात्रों को प्रशिक्षित करते हैं. फिल्म में आनंद की भूमिका रितिक रोशन ने निभाई है. फिल्म 12 जुलाई को बड़े पर्दे पर रिलीज हुई थी. Also Read - Dombivli Gang Rape Case: 15 साल की लड़की से सामूहिक रेप में 33 आरोपि‍यों में से अब तक 28 गिरफ्तार

24 को दिल्ली सरकार ने घोषणा की थी ऋतिक रोशन अभिनीत सुपर 30 राष्ट्रीय राजधानी में कर मुक्त होगी. फिल्म पहले ही बिहार, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और गुजरात में कर मुक्त हो चुकी है. उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट किया, दिल्ली सरकार ‘सुपर 30’ फिल्म को कर मुक्त कर रही है, ताकि यह दिल्ली में छात्रों और शिक्षकों को प्रेरित कर सके. Also Read - Maharashtra: पहले दो विवाह की बात छिपा तीसरी शादी करने वाले व्यक्ति के खिलाफ FIR दर्ज

बॉलीवुड अभिनेता ऋतिक रोशन ने इस फैसले के लिए दिल्ली सरकार का आभार जताया था. सुपर 30 पटना के विद्वान आनंद कुमार की जिंदगी पर आधारित हैं जो हर साल आईआईटी-जेईई प्रवेश परीक्षा के लिए गरीब परिवारों के 30 योग्य छात्रों को प्रशिक्षित करते हैं.

आनंद कुमार दिल्ली के सरकारी स्कूलों में वर्चुअल कक्षा लेंगे
सुपर 30’’से चर्चित आनंद कुमार ने पिछले हफ्ते कहा था कि वह दिल्ली में सरकारी स्कूलों की कक्षा ग्यारहवीं और बारहवीं के लिए हर महीने एक वर्चुअल कक्षा चलाएंगे. दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के साथ आनंद कुमार ने लाजपत नगर में शहीद हेमू कलानी सर्वोदय विद्यालय का दौरा किया था.

छात्रों के लिए यह एक सुनहरा अवसर
कुमार ने कहा था, मैं दिल्ली के सरकारी स्कूलों में पढ़ाई करने वाले कक्षा ग्यारहवीं और 12 के सभी छात्रों के लिए हर महीने एक वर्चुअल कक्षा आयोजित करूंगा. आईआईटी में दाखिला रखने की इच्छा रखने वाले छात्रों के लिए यह एक सुनहरा अवसर होगा. मैं छात्रों को अपने सपनों को हासिल करने के लिए साहस रखने की सलाह देता हूं.

सरकारी स्कूलों की स्थिति खराब
कुमार ने कहा, मैंने भी बचपन में सरकारी स्कूल में पढाई की थी, लेकिन, आज देश भर में सरकारी स्कूलों की स्थिति इतनी खराब हो गई है कि निजी और सरकारी स्कूलों में बड़ा अंतर आ गया है. कुमार ने सिसोदिया के साथ दिल्ली सरकार के स्कूलों में खुशहाली वाली कक्षा का जायजा लेने के दौरान कहा कि दिल्ली के सरकारी स्कूलों ने उनमें उम्मीद जगाई है.