Maharashtra Unlock Latest Update: देश में कोरोना की दूसरी लहर का कहर कम होने के बाद ज्यादातर राज्यों में लॉकडाउन पाबंदियों में ढील दी गई है. अनलॉक के माध्यम से धीरे-धीरे जरूरी गतिविधियों को दोबारा बहाल किया जा रहा है. इन सबके बीच महाराष्ट्र सरकार ने भी कोरोना के मामले कम होने के बाद पाबंदियों में कुछ और ढील का ऐलान किया है. न्यूज एजेंसी ANI की रिपोर्ट के अनुसार, महाराष्ट्र सरकार की ताजा गाइडलाइंस में राज्य में अब होटल और रेस्टोरेंट का संचालन रात 10 बजे तक करने की इजाजत दे दी गई है.Also Read - Maharashtra Unlock Update: महाराष्ट्र के इस इलाके में स्मारक देखने वाले पर्यटकों के लिए गाइडलाइन जारी, जानें आदेश

सरकार की तरफ से जारी ताजा दिशा निर्देशों के अनुसार, राज्य में होटल और रेस्टोरेंट को 4 बजे शाम की जगह रात 10 बजे तक खोला जा सकेगा. हालांकि सिनेमाघर और धार्मिक स्थलों को फिलहाल बंद रखने का फैसला किया गया है. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि 15 अगस्त से राज्य में कई पाबंदियों में ढील दी जा रही है. Also Read - क्या महाराष्ट्र ने जीत ली कोरोना से जंग? मार्च 2020 के बाद पहली बार सबसे कम नए मामले; 14 जिलों से कोई केस नहीं

Also Read - Maharashtra Corona Update: राजेश टोपे का बड़ा बयान- खत्म नहीं हुई दूसरी लहर, दिवाली के बाद तीसरी लहर का अंदेशा!

उन्होंने कहा कि वैक्सीन की दोनों डोज वाले लोग अब लोकल ट्रेनों में सफर कर सकते हैं. राज्य सरकार ने लोगों को मासिक और त्रैमासिक पास जारी करने के निर्देश दिए हैं. इसके साथ-साथ होटल/रेस्तरां 50 फीसदी की क्षमता के साथ संचालित किये जा सकते हैं. वहीं, लॉन में हो रही शादी में 200 लोग शामिल हो सकते हैं. साथ ही इंडोर वेडिंग के लिए हॉल में बैठने की 50% क्षमता की अनुमति दी गई है. रेस्टोरेंट रात 10 बजे तक 50% क्षमता के साथ खुले रहेंगे.

इसके साथ-साथ राज्य में रात 10 बजे तक मॉल्स को भी खोलने की इजाजत दी गई है. हालांकि मॉल में एंट्री के लिए आपको वैक्सीन की दोनों डोज लेना जरूरी होगा. एंट्री के समय आपके वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट दिखाना पड़ेगा.

मालूम हो कि सोमवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और महाराष्ट्र कोविड टास्क फोर्स के बीच बैठक में अधिकारियों ने राज्य में कोरोना के हालत पर चर्चा की थी. ठाकरे के अलावा बैठक में राज्य के मुख्य सचिव सीताराम कुंटे, कोविड -19 टास्क फोर्स के प्रमुख डॉ संजय ओक और अन्य सदस्य भी शामिल हुए थे.

“राज्य सरकार अब डॉक्टरों, विशेषज्ञों और सरकारी विभागों से विभिन्न सुझाव और निर्देश प्राप्त करने के बाद नए दिशानिर्देश तैयार कर रही है. चर्चा का फोकस मूल रूप से इस बात पर था कि सावधानियों का पालन करते हुए और ढील कैसे दी जाए. बैठक में भाग लेने वाले एक सरकारी अधिकारी ने इसकी जानकारी दी थी.