Maharasthra Curfew: महाराष्ट्र के हिंगोली जिले में कोरोना वायरस (Covid-19) के बढ़ते मामलों को देखते हुए सात दिन का कर्फ्यू लगा दिया गया है. जिले में एक दिन में कोरोना के 51 नए मामले मिले हैं जिसके मद्देनजर जिला कलेक्टर और जिला आपदा प्रबंधन के अध्यक्ष रुपेश जयवंशी ने 7 दिन का कर्फ्यू लागू कर दिया है. जिले में कर्फ्यू आज सुबह सात बजे से शुरू हो गया है जो सात दिनों तक जारी रहेगा.Also Read - देश में Omicron BA.4 की दस्तक, हैदराबाद में मिला पहला केस, वैज्ञानिकों ने कही ये बात

कर्फ्यू में रहेगी पूरी सख्ती Also Read - अभी तक नहीं हुए कोरोना के शिकार; इसे किस्मत न मानें, हो सकती हैं ये वजह

जिला कलेक्टर की ओर से जारी आदेश के अनुसार हिंगोली जिले के ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्र में एक मार्च सुबह 7 बजे से 7 मार्च को रात 12 बजे तक कर्फ्यू लागू रहेगा. इस दौरान सभी प्रतिष्ठानों, दुकानों और कैंटीनों में हर तरह की आवाजाही (व्यक्ति/वाहन) वर्जित रहेंगी. इस दौरान हालांकि दूध बिक्री केंद्र, दूध विक्रेताओं को दूध वितरण करने की इजाजत होगी. Also Read - Delhi Coronavirus Update: दिल्ली में कोरोना में बड़ी भारी गिरावट, एक की मौत

इस दौरान सभी सरकारी, अर्ध सरकारी दफ्तरों में कामकाज होगा तो वहीं सभी पूजा स्थल, धार्मिक स्थल, सभी विद्यालय, कॉलेज तथा शादी समारोह स्थल और लॉन बंद रहेंगे. इसके साथ ही दवा की दुकानों को इस दौरान खोलने की इजाजत दी जाएगी. वहीं पत्रकारों को दफ्तर आने तथा रिपोर्टिंग करने की इजाजत होगी.

जारी दिशा निर्देश में कहा गया है कि इस दौरान राष्ट्रीय राजमार्गों और राजमार्गों पर काम करने की अनुमति होगी और इसके साथ ही स्वास्थ्य से संबंधित निर्माण, सरकारी विभाग, महाराष्ट्र राज्य विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड (AMSEDCL), महाट्रांसपोर्ट और अन्य बिजली से संबंधित विभागों से रखरखाव और मरम्मत कार्य, दूरसंचार संबंधित सेवाएं, जल आपूर्ति, जल निकासी और स्वच्छता कार्य की अनुमति दी जाएगी. इसके साथ ही पेट्रोल पंप केवल सरकारी वाहनों, आवश्यक सेवा वाहनों और कृषि सेवा से संबंधित वाहनों में ईंधन की आपूर्ति जारी रखेंगे.

हिंगोली में अन्य जिलों के छात्रों के लिए होटल और अन्य खाद्य आपूर्तिकर्ता कर्फ्यू की अवधि के दौरान 9 बजे से 7 बजे के बीच पार्सल सेवाओं को संचालित करने के निर्देश दिए गए हैं.