2008 मालेगांव विस्फोट मामले में आज बॉम्बे हाई कोर्ट आरोपी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर और लेफ्टिनेंट कर्नल पुरोहित की ज़मानत याचिका पर फैसला सूना सकता है. इसी साल मार्च में अदालत ने कर्नल पुरोहित द्वारा की गई ज़मानत याचिका पर फैसला सुरक्षित रखा था. आज इस मामले में अहम फैसला आने की बात कही जा रही है.

बता दें कि राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की एक विशेष अदालत ने पिछले साल जून में साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर और कर्नल पुरोहित की जमानत याचिका खारिज कर दी थी. साध्वी प्रज्ञा ने अपनी याचिका में कहा था कि एनआईए द्वारा जुटाए गए सबूतों के अनुसार उनके खिलाफ कोई मामला नहीं बनता. मालेगांव विस्फोट के एक पीड़ित ने भी साध्वी प्रज्ञा की जमानत का विरोध किया था। उनका कहना था कि उन्हें जमानत दिए जाने पर विस्फोट में घायल हुए गवाहों की जान को खतरा होगा. यह भी पढ़े: अजमेर ब्लास्ट मामले में साध्वी प्रज्ञा और इंद्रेश कुमार को एनआईए ने दी क्लीन चिट, कोर्ट 17 को करेगी सुनवाई

एनआईए की विशेष अदालत के फैसले के बाद साध्वी प्रज्ञा और कर्नल पुरोहित ने बॉम्बे हाई कोर्ट में ज़मानत के लिए याचिका दायर की थी.

ज्ञात हो कि उत्तरी महाराष्ट्र के नासिक जिले में स्थित मुस्लिम बहुल शहर मालेगांव में 29 सितंबर 2008 को हुए विस्फोट में सात लोग मारे गए थे.