मुंबई: महाराष्ट्र में बड़े स्तर पर विस्फोटों को अंजाम देने  की साजिश रचने वाले, पूर्व में हिरासत में लिए जा चुके चार आरोपियों का एक और साथी अविनाश पवार को एटीएस ने मुम्बई के घाटकोपर इलाके से गिरफ्तार किया. आज अदालत ने पवार को 31 अगस्त तक के लिए पुलिस कस्टडी में भेज दिया. विस्फोट के साजिश के मामले में चार आरोपी वैभव राउत, शरद कालस्कर, सुधनवा गोंधालेकर और श्रीकांत पंगरकर  पूर्व में  गिरफ्तार किये जा चुके हैं, जिनसे पूछताछ के दौरान ही पवार का नाम सामने आया था. Also Read - Video: किराएदार नहीं चुका पाया रेंट, मकान मालिक ने ऐसे ताबड़तोड़ फायरिंग की

बेलगाम में मिला हो सकता है विस्फोटकों का प्रशिक्षण
एक अधिकारी ने नाम गुप्त रखे जाने की शर्त पर बताया कि जांचकर्ताओं को शक है कि गोंधालेकर और राउत को विस्फोटकों के बारे में प्रशिक्षण बेलगाम से मिला था. अधिकारी ने बताया कि, “तीनों से इस बारे में पूछताछ की गई है, लेकिन तीनों ने कोई खुलासा नहीं किया. गोंधालेकर से जब जांचकर्ताओं ने दाभोलकर मामले की पूछताछ शुरु की, तब उसने स्वीकारा कि देश के कई भागों में भ्रमण कर तीनों ने जानकारी इकठ्ठा की थी.”

अधिकारी ने बताया कि 30 साल के अविनाश पवार को कल रात गिरफ्तार कर लिया गया और उसे आज एक अदालत के समक्ष पेश किया गया, जहां 31 अगस्त तक के लिए पवार को पुलिस कस्टडी में भेज दिया गया. एटीएस के मुताबिक पवार इस मामले में वैभव राउत, शरद कालस्कर, सुधनवा गोंधालेकर और श्रीकांत पंगरकर के साथ राज्य में विस्फोटों को अंजाम देने की साजिश रचने में शामिल था. इन चारों को इस मामले में पहले गिरफ्तार किया गया था. अधिकारी ने कहा कि अविनाश  पवार का नाम गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ के दौरान सामने आया.

शिवसेना के पूर्व पार्षद भी हो चुके हैं गिरफ्तार
गौरतलब है कि एटीएस ने 10 अगस्त को वैभव राउत (40) को गिरफ्तार किया था, जो पालघर जिले के नालासोपारा में हिंदू गोवंश रक्षा समिति नाम का संगठन चलाता था. इसके बाद कालस्कर (25) और गोंधालेकर (39) को गिरफ्तार किया गया. जालना से शिवसेना के पूर्व पार्षद पंगरकर को 19 अगस्त को गिरफ्तार किया गया.

एटीएस के अधिकारी ने बताया कि, ‘‘हमने विस्फोटक तत्व अधिनियम की धाराओं 4, 5 के साथ विस्फोटक अधिनियम की धारा 9 (बी), आईपीसी की धारा 120 बी (आपराधिक षड्यंत्र) और गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम कानून (यूएपीए) की धाराओं 16, 18 और 20 के तहत पवार को गिरफ्तार कर लिया.’’