मुंबई. महाराष्ट्र के सचिवालय मंत्रालय की पांचवीं मंजिल से छलांग लगाकर 45 वर्षीय एक व्यक्ति ने आत्महत्या कर ली. इससे एक दिन पहले ही 32 साल के एक बेरोजगार व्यक्ति ने इमारत के बाहर आत्महत्या करने की कोशिश की थी. इन घटनाओं की वजह से मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने इमारत में सुरक्षा प्रणाली को दुरुस्त करने को कहा है. लगातार हुई इन दोनों घटनाओं के बीच विपक्षी दलों ने मंत्रालय को ‘आत्महत्या प्वाइंट’ करार दिया है.पुलिस ने बताया कि मृतक की पहचान हर्षल राउत के रूप में हुई है. वह अपनी बहन की हत्या के मामले में दोषी करार दिया जा चुका था और 10 जनवरी से पैरोल पर बाहर था. उसने पैरोल खत्म होने के अंतिम दिन आत्महत्या कर ली.
घटना के बाद विपक्षी नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल, धनंजय मुंडे और अजित पवार घटना की जानकारी हासिल करने के लिए मंत्रालय पहुंचे.
विखे पाटिल ने कहा कि आत्महत्या की यह घटना बताती है कि मंत्रालय ‘आत्महत्या प्वाइंट’ बन गया है. विपक्षी पार्टियों ने आरोप लगाया कि बीजेपी सरकार की विफल नीतियों की वजह से ही लोग आत्महत्या जैसे कदम उठाने को मजबूर हो रहे हैं.
Also Read - गर्लफ्रेंड के साथ समय बिताने के लिए कोरोना पॉजिटिव बता 'लापता' हो गया शख्स, पत्नी को हुआ शक और फिर...

Also Read - सोशल मीडिया पर लड़के ने 16 साल की लड़की से की दोस्‍ती, फिर भागने से लेकर रेप तक पहुंचा मामला

Also Read - मुंबई पुलिस ने अमिताभ बच्चन और जया बच्चन के बंगलों के पास सुरक्षा बढ़ाई