Mumbai Local Train News Update: कोरोना की भयावह स्थिति की वजह से मुंबई में मिनी लॉकडाउन है. इस मिनी लॉकडाउन में यहां की लाइफ लाइल कही जाने वाली मुंबई लोकल में आम लोगों को यात्रा करने की मनाही है. बावजूद इसके बड़ी संख्या में आम लोग फर्जी तरीके से यात्रा कर रहे हैं.Also Read - स्पाइसजेट के बोइंग 737 विमान की विंडशील्ड में क्रेक आया नजर, पायलट ने फ्लाइट को मुंबई एयरपोर्ट पर सुरक्षित उतारा

दरअसल, महाराष्ट्र सरकार में इस मिली लॉकडाउन में आवश्यक सेवाओं को सुचारू रखने का फैसला किया है. इसके लिए मुंबई लोकल की सेवाएं जारी हैं. सरकार के निर्देश के मुताबिक मुंबई लोकल में केवल आवश्यक सेवाओं और बेहद जररूतमंद लोगों को यात्रा की अनुमति दी गई है लेकिन अब ऐसी रिपोर्ट आ रही है कि बड़ी संख्या में लोग आवश्यक सेवाओं से संबंधित फर्जी आई कार्ड बनाकर लोकल में यात्रा कर रहे है. Also Read - मुंबई की जेल में बंद महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री अनिल देशमुख सीने में दर्द के बाद के अस्पताल में भर्ती

एक रिपोर्ट के मुताबिक मुंबई सहित पूरे महाराष्ट्र में 22 अप्रैल से 1 मई तक लॉकडाउन जैसे कड़े प्रतिबंध लगाए गए हैं. जीआरपी के आंकड़ों के मुताबिक अब तक उसने 100 से अधिक लोगों को फर्जी आई कार्ड पर यात्रा करने के आरोप में जुर्माना लगाया है. बीते चार दिनों में इनकी संख्या काफी बढ़ गई है. जीआरपी ने भी कहा है कि फर्जी पहचान पत्र पर यात्रा करने वाले यात्रियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. Also Read - इतने सालों में पहली बार Chitrangada Singh ने की मुंबई लोकल की सवारी, बताया- अब तक क्यों नहीं मिला ये मौका?

इस बारे में सेंट्रल रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी शिवाजी सुतार ने कहा कि रेलवे और राज्य सरकार बार-बार लोगों से अपील कर रही है कि जिन लोगों को यात्रा की अनुमति दी गई है वे ही लोकल में यात्रा करें. आम लोग बिना वजह के स्टेशनों पर भीड़ न लगाएं. ऐसा करने के इन प्रतिबंधों का कोई मतलब नहीं रह जाएगा.

गौरतलब है कि मुंबई लोकल की सेवाएं मुख्य रूप से सेंट्रल रेलवे और वेस्टर्न रेलवे संचालित करती हैं. महानगर में मिनी लॉकडाउन और आम लोगों की यात्रा पर रोक के बावजूद लोकल की 80 फीसदी सेवाएं चल रही हैं, क्योंकि इन ट्रेनों में आवश्यक सेवा से जुड़े लोग यात्रा कर सकें और उनके बीच पर्याप्त सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो सके.