मुंबई: महाराष्ट्र सरकार में मंत्री पंकजा मुंडे ने अपने पिता और भाजपा के वरिष्ठ नेता गोपीनाथ मुंडे की हत्या किए जाने की खबरों को बुधवार को सिरे से खारिज किया. अमेरिका में रहने वाले एक स्वयं-भू साइबर विशेषज्ञ ने दावा किया है कि ईवीएम को हैक किया जा सकता है और इसकी जानकारी मुंडे को थी, इसलिए उनकी हत्या कर दी गई. 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा को जीत मिलने के कुछ ही सप्ताह के भीतर दिल्ली में एक सड़क दुर्घटना में मुंडे की मौत हो गई थी.

महाराष्ट्र की महिला एवं बाल विकास मंत्री ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि वह मामले को सनसनीखेज नहीं बनाएंगी. पंकजा ने कहा कि वह ना तो कोई हैकर हैं और ना ही कोई जांच एजेंसी. उन्होंने कहा, ‘‘मैं बेटी हूं. मैं आपसे अनुरोध करती हूं कि मुझे बेटी ही समझें. मीडिया पिछले दो दिन से मुझे इस मुद्दे पर बोलने के लिए मजबूर कर रही है, लेकिन मुझे नहीं पता है कि क्या कहना चाहिए.’

साइबर एक्सपर्ट का दावा, हुई थी गोपीनाथ मुंडे की हत्या, भतीजे ने की रॉ से जांच की मांग

पंकजा ने कहा, ‘‘जब मुंडे जी की मृत्यु हुई, मैंने (केन्द्रीय गृहमंत्री) राजनाथ सिंह जी से सीबीआई जांच कराने का अनुरोध किया था, जांच हो चुकी है.’’ उन्होंने कहा कि हैकर द्वारा ईवीएम हैक करने के दावों को निर्वाचन आयोग पहले ही नकार चुका है, ऐसे में इस मुद्दे पर कहने को कुछ नहीं बचा है. अमेरिका में राजनीतिक शरण की इच्छा रखने वाले सैयद शुजा नामक स्वयंभू साइबर विशेषज्ञ ने सोमवार को दावा किया कि 2014 के लोकसभा चुनाव में ईवीएम के माध्यम से धांधली हुई और इन मशीनों को हैक किया जा सकता है. निर्वाचन आयोग ने आरोपों से इंकार किया है.