मुंबई| परिवहन विभाग काली-पीली टैक्सियों में इलेक्ट्रॉनिक मीटर को निकालकर उसकी जगह जीपीएस-सक्षम मीटर लगाने के बारे में सोच रहा है. इसी के चलते गुरूवार को ‘आमची ड्राइव’ मोबाइल एप लॉन्च किया गया. जिसमे ये दोनों फीचर्स को शामिल किया गया है. नई प्रणाली में यात्री ई-वॉलेट का उपयोग कर भुगतान भी कर सकते हैं. इससे 2000 टैक्सी जुड़ गई है और आने वाले दिनों में और भी जुड़ने की संभावना है.

इस टैक्सी का किराया एक केंद्रीकृत नियंत्रण कक्ष के माध्यम से कैलकुलेट किया जाएगा, जो टैक्सियों को ट्रैक करेगा. अधिकारीयों ने बताया कि इससे मीटर के साथ छेड-छाड़ की घटना बंद हो जाएगी. ट्रांसपोर्ट अधिकारीयों के अनुसार इस तकनीक से जून वाली टैक्सियां और कूल कैब एग्रीगेटर्स की तरह ऑपरेट कर सकते है. यह सेवा सन टेलीमैटिक्स द्वारा प्रदान की जा रही है जो सिटी टैक्सी स्कीम के अंतर्गत पंजीकृत है.

नए ऐप में कई कम्यूटर-अनुकूल सुविधाए है, इसके अलावा इसमें दूसरों के लिए कैब बुक करने की सुविधा भी दी गई है. मुंबईकर अब बिना किसी झंझट के आमची ड्राइव ऐप से काली-पीली टैक्सियां बुक कर सकेंगे. अब उन्हें छोटी दुरी के लिए टैक्सी हायर करने के लिए दिक्कत का सामना नहीं करना पडेगा और टैक्सी चालक भी यात्रियों को माना नहीं कर पाएंगे.