पूरे देश से सर्दी का मौसम खत्म हो रहा है. लेकिन ‘सपनों के शहर’ मुंबई का मौसम बेहद प्यारा बना हुआ है. जब पूरा देश कड़ाके की सर्दी से गुजर रहा था उस वक्त भी मुंबई का तापमान 30 डिग्री सेल्सियस के आसपास बना हुआ था. वैसे तो इस शहर में फरवरी के अंतिम सप्ताह से गर्मी का अहसास होने लगता है. तापमान बढ़ने के साथ उमस भी बढ़ने लगती है और लोग उमस वाली गर्मी से परेशान होने लगते हैं. मार्च आते-आते तापमान 40 डिग्री के आसपास पहुंच जता है. लेकिन इस बार माजरा कुछ और है. इस साल मार्च का महीना अपेक्षाकृत सुकुन देने वाला है.

Skymet के आंकड़ों के मुताबिक पिछले 10 सालों में मार्च के महीने में केवल चार बार मुंबई में तापमान 40 डिग्री को पार किया है. 2011 में मार्च के महीने में इस शहर का तापमान 41.3 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचा था जो एक रिकॉर्ड था.

वर्ष 2013 में मार्च महीने के 10 दिनों का औसत तापमान 38 डिग्री सेल्सियस था. सात मार्च 2013 को शहर का अधिकतम तापमान 40.5 डिग्री सेल्सियस था. अगर मार्च महीने के पहले 10 दिनों के पिछले 10 सालों के दौरान के औसत तापमान को देखें तो पता चलता है कि इस साल यानी 2019 में मार्च के पहले 10 दिनों का औसत तापमान 32.8 डिग्री सेल्सियस रहा.

मुंबई के इस खुशनुमा मौसम के पीछे का राज देश के उत्तरी इलाके में जारी मौसम की अलग-अलग गतिविधियां हैं. ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि पश्चिमी विक्षोभ, पश्चिमी हिमायलयी क्षेत्र में बार-बार पैदा हो रहा है. इस कारण इस साल देश के उत्तरी और उत्तर पश्चिम इलाके में बारिश हो रही है. इन गतिविधियों का सीधा असर मुंबई के मौसम पर पड़ रहा है.