मुंबई: मुंबई बंदरगाह न्यास ने कोरोना वायरस के संकट के मद्देनजर संक्रमित लोगों के लिये समंदर की लहरों पर ‘तैरता पृथक वास’ तैयार करने की पहल की है. न्यास ने शनिवार को इसकी जानकारी दी. मुंबई बंदरगाह न्यास ने एक बयान में कहा कि वह क्रूज का परिचालन करने वाली एक कंपनी से इस बारे में बात कर रहा है. जिस क्रूज को इस उदेश्य के लिये तैयार करने पर विचार किया जा रहा है, उसमें दो हजार लोगों को रखने की क्षमता है. Also Read - कोरोना वायरस से प्रभावित टॉप 10 देशों की सूची में पहुंचा भारत, जून के अंत तक बहुत तेजी से बढ़ेंगे मामले

न्यास के चेयरमैन संजय भाटिया ने कहा, ‘‘हमने बृहन्नमुंबई नगर निगम और एक क्रूज परिचालक से दो हजार लोगों के लिये तैरतापृथक वास बनाने को लेकर करार किये हैं. इसके अलावा हमने वाडी बंदर पर सेलर्स होम से भी समझौता किया है, जिसमें 500 लोगों को पृथक रखने की क्षमता है.’’ Also Read - पंजाब में कोविड-19 के 21 नए मामले सामने आये, कुल संख्या बढ़ कर 2,081 हुई

हालांकि भाटिया ने यह नहीं बताया कि उनकी बात किस क्रूज परिचालक से हो रही है. सूत्रों की मानें तो मुंबई बंदरगाह न्यास एस्सेल समूह के क्रूज लाइनर जलेश क्रूजेज से बात कर रहा है. उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र में अब तक 537 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं. इनमें 179 मामले अकेले मुंबई से हैं. Also Read - शादी के तुरंत बाद दूल्‍हा-दुल्‍हन सीधे पहुंचे अस्‍पताल, कोरोना टेस्‍ट कराने के बाद पहुंचे घर

(इनपुट भाषा)