मुंबई. महाराष्ट्र के मुंबई समेत कई इलाकों में बुधवार को मूसलाधार बरसात की वजह से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. मुंबई के कई इलाकों में पानी भर गया है, जिससे सड़कों पर ही बाढ़ जैसा नजारा दिखने लगा है. मुंबई के सियोन रेलवे स्टेशन पर रेलवे ट्रैक पर पानी जमा होने से रेल यातायात प्रभावित होने की खबर है. हालांकि अभी तक बारिश की वजह से मुंबई की लोकल या अन्य ट्रेनों के संचालन रोके जाने की खबर नहीं है. बादल छाने और मूसलाधार बारिश की वजह से सुबह में अंधेरा छा गया था, जिसकी वजह से कई सड़क दुर्घटनाओं की भी खबर है. Also Read - Weather Forcast: चेन्नई में बारिश से सड़के हुईं जलमग्न, दक्षिण तटीय आंध्र में भारी वर्षा का पूर्वानुमान

मुंबई के सियोन में आसमान में घने बादल छाए होने की वजह से सुबह में अंधेरा छा गया था. इस कारण सड़क पर कई चारपहिया वाहन चालकों ने अपना नियंत्रण खो दिया और गाड़ियां एक-दूसरे से टकरा गईं. सियोन में तो गाड़ियों की आपसी टक्कर इतनी जबर्दस्त हुई कि कम से कम 8 लोग घायल हो गए. सुबह से ही रही झमाझम बारिश के कारण आम मुंबईवासी का चलना-फिरना प्रभावित है. बारिश के कारण जगह-जगह जलजमाव हो गया है, जिससे घरों से बाहर निकलना भी मुश्किल है. खासकर वाहन चालकों और सार्वजनिक परिवहन सेवा का इस्तेमाल करने वालों को इससे बड़ी परेशानी हो रही है. Also Read - Weather Alert: बंगाल सहित इन राज्यों में अगले कुछ दिनों में भारी बारिश की चेतावनी, NDRF की टीमें तैयार

आपको बता दें कि न सिर्फ मुंबई, बल्कि देश के कई अन्य राज्यों में भी भारी वर्षा के कारण लाखों लोगों का जीवन प्रभावित है. असम, बिहार, उत्तर प्रदेश समेत कई अन्य राज्यों में भारी बारिश की वजह से नदियां उफान पर हैं. असम और बिहार के तो कई जिले पिछले एक पखवाड़े से ज्यादा समय से पानी में डूबे हुए हैं. इन दोनों राज्यों में बाढ़ के कारण जान-माल की भी व्यापक क्षति हुई है. सरकार के आधिकारिक आंकड़े के अनुसार दोनों राज्यों में बाढ़ के कारण लगभग 200 लोगों की जानें जा चुकी हैं. मौसम विभाग का कहना है कि बारिश का यह सिलसिला अभी बना रहेगा. मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मद्देनजर बिहार में कई जिलों में प्रशासन ने अलर्ट जारी कर दिए हैं. लोगों को बाढ़ से सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं, वहीं स्कूलों को बंद कर दिया गया है.