मुंबई. शीना बोरा हत्या मामले में आरोपी इंद्राणी मुखर्जी ने अदालत में अर्जी देकर आरोप लगाया कि जब कैदियों ने एक कैदी की हत्या का विरोध किया तो जेल के अधिकारियों ने उनकी पिटाई की. हाल ही में इंद्राणी पर महिला जेल में दूसरी कैदियों के साथ मिलकर हंगामा करने का आरोप था. जिसके बाद इंद्राणी मुखर्जी पर 200 अन्य कैदियों के साथ हिंसा और अन्य आरोपों के तहत मामला दर्ज किया.

लेकिन वहीं इंद्राणी मुखर्जी ने जेल प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि जेल में महिला कैदी की मौत के बाद जेल अधिकारियों ने उनकी पिटाई की थी. उन्होंने यह जानकारी उनकी वकील गुंजन मंगला को दी. जिसके बाद वकील ने सीबीआई की स्पेशल कोर्ट में एप्लीकेशन दायर की है. उन्होंने अपील में कहा है कि इंद्राणी को चोट लगी है और उनके  हाथ, पैर और सिर पर खरोंच और चोट के निशान को देखा जा सकता है जिसके बाद जेल प्रशासन को सीबीआई की विशेष अदालत ने अगली सुनवाई (बुधवार) को पेश होने को कहा है.

गौरतलब हो कि शुक्रवार को बायकुला जेल में महिला कैदी मंजू गोविंद शेट्टी की मौत के बाद शनिवार को नाराज कैदियों का गुस्सा फूट पड़ा था. जिसके बाद कुछ महिला कैदी इस दौरान जेल की छत पर चढ़ गयीं तो कुछ अन्य ने अपना गुस्सा जताने के लिये परिसर के अंदर अखबार और दूसरे दस्तावेजों में आग लगा दी.