Mumbai Local Train Latest News: शेयर बाजार बिचौलियों के संगठन एसोसियेशन ऑफ नेशनल एक्सचेंजेज मेंबर्स ऑफ इंडिया (Anmi) ने मंगलवार को कहा कि उसने महाराष्ट्र सरकार से शेयर ब्रोकिंग और डिपॉजिटरी सेवा कर्मचारियों को लोकल ट्रेन से सफर करने की मंजूरी देने का आग्रह किया है. एन्मी ने महाराष्ट्र के परिवहन और संसदीय मामलों के विभाग को लिखे एक पत्र में कहा, ‘शेयर बाजार अर्थव्यवस्था एवं अन्य के लिए महत्वपूर्ण हैं और उसके विभिन्न घटक वित्तीय बाजार संस्थानों के लिए महत्वपूर्ण हैं. इसलिए उन्हें सफर करने की मंजूरी दी जानी चाहिए, ताकि इन प्रतिष्ठानों का सुचारू तरीके से कामकाज सुनिश्चित किया जा सके.’Also Read - Maharashtra Crisis: 16 विधायकों को डिप्टी स्पीकर भेजेंगे नोटिस, शिवसेना ने की अयोग्य ठहराए जाने की मांग

एन्मी में देश भर के करीब 900 ट्रेडिंग सदस्य शामिल हैं और केवल मुंबई में ही 350 ब्रोकिंग कंपनियों उसकी सदस्य हैं. संगठन ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार और गृह मंत्रालय के शेयर ब्रोकिंग और डिपॉजिटरी सेवाओं को आवश्यक सेवाएं घोषित करने के बावजूद कर्मचारियों को लोकल ट्रेनों में सफर करने नहीं दिया जा रहा है. एन्मी ने कहा कि उसे राज्य सरकार से अब तक इस संबंध में जवाब नहीं मिला है और वह राज्य सरकार से तेजी से कार्रवाई करने की अपील करता है. Also Read - Maharashtra Political Crisis Updates: एकनाथ शिंदे ने डिप्टी स्पीकर को भेजी चिट्ठी, खुद को विधायक दल का बताया नेता

एक दिन पहले कोरोना संकट के दौर में बढ़ती भीड़ को देखते हुए पश्चिम रेलवे ने अंधेरी और विरार स्टेशनों के बीच अपने ‘स्लो कॉरिडोर’ पर 15 डिब्बों की लोकल ट्रेन की सेवा शुरू की है. अधिकारियों ने बताया कि अब तक पश्चिम रेलवे केवल ‘फास्ट कॉरिडोर’ पर ही 15 डिब्बों वाली लोकल ट्रेन सेवा का परिचालन कर रहा था. इस कदम से ट्रेन सेवाओं में सवारी क्षमता में 25 फीसदी की वृद्धि होगी. पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुमित ठाकुर ने बताया कि सोमवार से 25 नयी सेवाओं के जुड़ने से पश्चिम रेलवे उपनगरीय मार्ग पर 15 डिब्बों वाली लोकल ट्रेन सेवाओं की कुल संख्या 79 हो गई है. Also Read - एक महीने से ज्यादा समय तक जेल में रहने के बाद एक्ट्रेस Ketaki Chitale रिहा, जानें शरद पवार के खिलाफ क्या की थी टिप्पणी!

पश्चिम रेलवे (दक्षिण मुंबई में) चर्चगेट और (पड़ोस के पालघर में) दहानू स्टेशनों के बीच कुल 1,367 लोकल ट्रेन सेवाएं संचालित करता है. ठाकुर ने कहा कि पश्चिम रेलवे ने 13 डाउन और 12 अप सेवाओं सहित 25 उपनगरीय ट्रेन सेवाओं को 12 डिब्बों से 15 डिब्बों वाली सेवा में बदल दिया है. इनमें से 18 सेवाएं ‘स्लो कॉरिडोर’ पर और 7 उपनगरीय ट्रेन नेटवर्क के ‘फास्ट कॉरिडोर’ पर संचालित की जाएंगी.

पश्चिम रेलवे ने रविवार को कहा, ’12 डिब्बों वाली ट्रेन सेवा को 15 डिब्बों वाली सेवा में बदलने से यात्रियों को बहुत फायदा होगा, क्योंकि इससे इन ट्रेन सेवाओं की वहन क्षमता में 25 प्रतिशत की वृद्धि होगी.’ ‘स्लो कॉरिडोर’ पर 15 डिब्बों वाली ट्रेनों के संचालन के लिए, पश्चिम रेलवे ने अंधेरी और विरार के बीच 14 रेलवे स्टेशनों पर 27 प्लेटफार्मों का विस्तार किया है. उपनगरीय लोकल ट्रेनों में भीड़भाड़ कम करने के उद्देश्य से, पश्चिम रेलवे ने 2009 में मुंबई में 15 डिब्बों की पहली ट्रेन सेवा शुरू की थी.

(इनपुट: भाषा)