मुंबई. लगातार हो रही भारी बारिश के कारण देश के कई हिस्से भयंकर बाढ़ की चपेट में हैं. महाराष्ट्र के कई जिलों में भारी बारिश की वजह से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. राज्य के ठाणे जिले में भारी बारिश के कारण बाढ़ आ गई, जहां सैकड़ों असहाय लोगों को एक ट्रेन और अन्य स्थानों से बचाया गया. मुंबई में भारी बारिश के कारण शनिवार को 11 उड़ानों को रद्द करना पड़ा जबकि यहां आने वाले नौ विमानों को पास के हवाई अड्डों पर भेजा गया. इस बीच, मौसम विभाग ने मुंबई में रविवार को ‘‘भारी से बहुत भारी’’ बारिश का पूर्वानुमान लगाया है. विभाग का मानना है कि कुछ स्थानों पर तो ‘‘अत्यंत भीषण बारिश’’ हो सकती है.

भारी बारिश के कारण महाराष्ट्र में कोल्हापुर जाने वाली महालक्ष्मी एक्सप्रेस रेलवे ट्रैक पर फंस गई. भारी बारिश के कारण रेल पटरियों पर पानी भरने से यह ट्रेन ठाणे जिले में वंगानी के निकट फंस गई थी. ट्रेन में सवार सभी 1,050 यात्रियों को बचाने के लिए बचाव एवं राहत कार्य चलाने वाली एजेंसियों ने 17 घंटे लंबा अभियान चलाकर इन यात्रियों को बचाया. मध्य रेलवे (सीआर) के अधिकारियों ने बताया कि नौ गर्भवती महिलाओं समेत सभी यात्रियों को अपराह्र तीन बजे तक बचा लिया गया. इसके अलावा भारतीय वायुसेना ने ठाणे जिले में भारी बारिश के चलते अचानक आई बाढ़ की वजह से फंसे 120 से अधिक लोगों को हेलीकॉप्टर के जरिए सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया. राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ), नौसेना, वायुसेना, सेना, रेलवे और राज्य प्रशासन की टीमों ने यात्रियों को बचाने अभियान चलाया.

इधर, मुंबई में बारिश की वजह से कई हवाई यात्रियों को भी परेशानी झेलनी पड़ी. एक हवाई अड्डा अधिकारी ने कहा कि शहर के छत्रपति शिवाजी महाराज अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर हालांकि संचालन सामान्य रहा. लेकिन मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा लिमिटेड के एक अधिकारी के अनुसार, ‘‘विभिन्न एयरलाइंस की 11 उड़ानों को शनिवार को रद्द कर दिया गया. इनमें सात जाने वाली और चार आने वाली उड़ानें शामिल हैं.’’ वहीं, बृहन्मुंबई महानगर पालिका ने कहा कि वह भारी बारिश से निपटने को तैयार है और उसने लोगों को सतर्क रहने का परामर्श दिया है. महाराष्ट्र सरकार ने इंजीनियरिंग कोर्स के लिए केन्द्रीयकृत प्रवेश प्रक्रिया के दूसरे दौर हेतु रिपोर्टिंग के लिए समय-सीमा भारी बारिश को देखते हुए दो दिन बढ़ा दी है.

(इनपुट – एजेंसी)