मुंबई: कई दिनों की देरी के बाद आखिरकार शुक्रवार को मानसून ने मुंबई में दस्तक दी और बारिश ने महानगर और उसके बाहरी इलाकों को सराबोर कर दिया. झमाझम बारिश से मौसम तो खुशनुमा हो गया, लेकिन सड़क और रेल यातायात प्रभावित हो गया. मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों में वित्तीय राजधानी में भारी वर्षा के कुछ दौर के साथ मध्यम बारिश का पूर्वानुमान जताया है. Also Read - कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए मुंबई को निकले महाराष्ट्र के हजारों किसान, आजाद मैदान में करेंगे रैली

  Also Read - Kisan Protest in Maharashtra: अब महाराष्ट्र में भी कृषि कानूनों के खिलाफ मुखर हुए किसान, 15000 किसानों ने निकाला नाशिक-मुंबई 'वाहन मार्च'

बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) ने बताया कि पिछले पांच घंटों में, उसके मौसम केन्द्र ने द्वीपीय शहर में औसतन 43.23 मिलीमीटर, पूर्वी उपनगरों में 64.14 मिमी और पश्चिमी उपनगरों में 78.21 मिमी बारिश दर्ज की है. नगर निकाय ने कहा कि सड़क यातायात की रफ्तार धीमी होने की सूचना मिली है, जबकि मध्य और पश्चिम रेलवे की उपनगरीय सेवाएं समय से पीछे चल रही है. एक वरिष्ठ निगम अधिकारी ने कहा कि शहर में पिछले कुछ घंटों में मध्यम बारिश दर्ज की गई है. आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ में अब तक कोई अप्रिय घटना या बड़े जल-जमाव की सूचना नहीं मिली है.

इस बीच, भारी बारिश ने निकाय अधिकारियों की मुश्किलें कम कर दी है. उन्होंने कहा कि बारिश होने से महानगर में पानी की आपूर्ति करने वाले जलाशयों के जल भंडार को बढ़ाने में मदद मिलेगी. मॉनसून का मिजाज बदलता रहा था, इसलिए नगर निगम प्रशासन को मुंबईकरों की जरूरतों को पूरा करने के लिए अपनी झीलों से पानी के आरक्षित भंडार का उपयोग करने के लिए मजबूर होना पड़ा है. एक नगरनिगम अधिकारी ने कहा कि मेट्रो रेल कार्य चलने और कुछ स्थानों पर जलजमाव के चलते मुंबई की जीवन रेखा मानी जाने वाली उपनगरीय ट्रेन सेवाएं 10 से 15 मिनट की देरी से चल रही हैं.