मुंबई. महाराष्ट्र में बीते 43 महीनों में 1687 लोगों ने धर्म परिवर्तन करवाया. एक आरटीआई में यह पता चला है. इनमें से 1166 हिंदुओं ने इस्लाम, इसाई धर्म और बौद्ध धर्म को अपनाया. आरटीआई में बताया गया कि इस अवधि में 1687 में से 749 यानी 44 फीसदी लोगों ने इस्लाम को अपनाया. कार्यकर्ता अनिल गलगाली की आरटीआई के जवाब में शासन मुद्रण, लेखनसामग्री व प्रकाशन संचालनालय (डीजीपीएस), मुंबई ने यह जानकारी दी. Also Read - Palghar mob lynching case: कोर्ट ने गिरफ्तार 89 लोगों को जमानत दी, बताई ये वजह

Also Read - मुंबई में पति ने पत्‍नी को लोकल ट्रेन से दिया धक्‍का, नीचे गिरने पर हुई मौत, दो माह पहले की थी शादी

इसमें कहा गया, 10 जून 2014 से 16 जनवरी 2018 की अवधि के बीच दर्ज सूचना के मुताबिक 44 फीसदी लोगों ने इस्लाम अपनाया जबकि केवल 21 फीसदी लोगों ने हिंदू धर्म अपनाया. कुल 1166 हिंदू लोगों में से 664 ने इस्लाम अपनाया, 258 ने बौद्ध धर्म अपनाया, 138 ने इसाई धर्म, 88 ने जैन धर्म, 11 ने सिख धर्म और सात लोगों ने अन्य धर्म अपनाए. Also Read - प्‍लेबैक सिंगर के एक ट्वीट पर दिग्‍गज मंत्री का खुलासा, उसकी बहन से रिश्‍ते में रहा हूं, पैदा हुए बच्‍चों का 'प‍िता' भी हूं

भारत के दक्षिणी राज्य केरल में कैसे आया इस्लाम?

भारत के दक्षिणी राज्य केरल में कैसे आया इस्लाम?

कुल 263 मुस्लिम लोगों में से 228 यानी 87 फीसदी ने हिंदू धर्म अपनाया जबकि 12 ने बौद्ध धर्म, 21 ने इसाई धर्म और दो ने जैन धर्म अपनाया. गलगाली ने कहा, यह डीजीपीएस द्वारा दर्ज किया गया आंकड़ा है. यह केवल उन्हीं लोगों का रिकॉर्ड है जो इसकी जानकारी देते हैं, वैसे धर्म परिवर्तन करने वाले लोगों की वास्तविक संख्या कहीं अधिक है.

संचालनालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, हमने ऑनलाइन सुविधा शुरू की है ताकि लोग धर्म परिवर्तन के बारे में सूचित कर सकें. इसके अलावा राज्यभर में 4,000 केंद्र हैं जहां वे धर्म परिवर्तन के बारे में सूचना दे सकते हैं.