मुंबई: भारतीय जनता पार्टी के सहयोगी दल शिवसेना ने मंगलवार को कहा कि महिलाओं से दुर्व्यवहार करने वाले लोग कैबिनेट में बैठे हैं. शिवसेना ने किसी का नाम लिए बिना यौन उत्पीड़न के आरोपों का सामना कर रहे केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने पर केंद्र पर कटाक्ष किया. Also Read - 'महाराष्ट्र में अगले 2-3 माह में सरकार बना लेगी बीजेपी, तैयारी हो गई है'

Also Read - जिस रिपोर्ट में हैं दाऊद इब्राहिम से बड़े नेताओं के संबंधों का ज़िक्र, बीजेपी नेता ने उसे सार्वजनिक करने की मांग की

#MeToo: एक और महिला पत्रकार ने अकबर पर लगाए आरोप, ‘होटल में बुलाया, अंडरवियर पहने हुए खोला दरवाजा’ Also Read - मुकेश खन्ना ने महिलाओं पर दिया विवादित बयान, लोगों का 'शक्तिमान' पर फूटा गुस्सा- SEE VIDEO 

कई महिला पत्रकारों ने पूर्व संपादक और अब केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री अकबर पर आरोप लगाया है कि उन्होंने पत्रकार रहते हुए उनका यौन उत्पीड़न किया. अकबर ने इन आरोपों को ‘झूठा, फर्जी और बेहद दुखद’ बताते हुए खारिज किया है और आरोप लगाने वाली एक पत्रकार के खिलाफ सोमवार को दिल्ली की एक अदालत में निजी आपराधिक मानहानि शिकायत दायर की है.

#MeToo: यौन शोषण के आरोपों पर अदालत पहुंचे एमजे अकबर, प्रिया रमानी के खिलाफ शिकायत

शिवसेना ने पार्टी के मुखपत्र ‘सामना’ के संपादकीय में कहा, ‘(2014 लोकसभा चुनावों से पहले) भाजपा ने सभी को रोटी, कपड़ा और मकान तथा ‘नैतिक देश’ बनाने का वादा किया था, लेकिन महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार करने वाले लोग कैबिनेट में हैं और शराब को प्रोत्साहित करने के लिए फैसले किए जा रहे हैं. संपादकीय में, पार्टी ने शराब की ऑनलाइन बिक्री और ‘होम डिलीवरी’ के महाराष्ट्र सरकार के प्रस्ताव की भी आलोचना की.