Maharashtra: भारत की ताकत देश की एकता और अखंडता है. धर्म संप्रदाय के लिए लड़ने वालों के लिए महाराष्ट्र के बेलापुर ( श्रीरामपुर ) में मुस्लिम संप्रदाय के लोगो ने एक मिसाल कायम की है. उन्होंने अयोध्या में बनने वाले भगवान राम के मंदिर के लिए 51 हजार रूपए का स्वेच्छा से दान किया है. ये राशि उन्होंने अपनी तरफ से मंदिर निर्माण के लिए दी है.
राममंदिर समिति के कोषाध्यक्ष स्वामी गोविंद देव गिरीजी महाराज के कार्यक्रम के दौरान ये मुस्लिम संप्रदाय के लोग दान की राशि लेकर पहुंचे थे और उन्होंने उस इलाके के पूरे संप्रदाय की तरफ से  ये राशि भेट की. इस मौके पर मुस्लिम संप्रदाय के लोगो की तरफ से कहा गया कि उन्हे कम समय मिला, नही तो वो भगवान राम के मंदिर के लिए 10 लाख रूपए का दान करते.

इस मौके पर पहुंचे स्वामी गोविंद देव गिरीजी महाराज ने कहा कि ये दिखाता है राम मंदिर का कार्य किसी एक धर्म,सप्रदाय का काम नही बल्कि पूरे देश का काम है और इस काम में मुस्लिम बंधु आगे आए है और ये हमारे राष्ट्रीय एकता का प्रतीक है.Also Read - Maharashtra News: 12 भाजपा विधायकों के निलंबन पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा, "निलंबित करने का प्रस्ताव असंवैधानिक है"

बता दें कि राम मंदिर निर्माण के लिए जो भी चाहे अपनी मर्जी से चंदा दे सकता है. राम मंदिर निर्माण के लिए चंदा इकट्ठा करने के अभियान की शुरुआत 14 जनवरी को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने की. उन्होंने राम मंदिर के लिए सबसे पहले चंदा दिया. इसकी शुरुआत देश के प्रथम नागरिक राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उनके परिवार की ओर से 5,00,100 रुपये की राशि प्राप्त करने से हुई. उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू की पत्नी ऊषा नायडू पहले ही मंदिर के निर्माण के लिए पूरे परिवार की ओर से 5,11,116 रुपये का योगदान दे चुकी हैं.
राम मंदिर निर्माण के लिए चंदा इकट्ठा करने के अभियान की शुरुआत 14 जनवरी को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने की. उन्होंने राम मंदिर के लिए सबसे पहले चंदा दिया.
Also Read - Maharashtra: नासिक में ऑनलाइन क्लास के लिए मोबाइल नहीं होने पर 11वीं की छात्रा ने की खुदकुशी

Also Read - Maharashtra News: महाराष्ट्र में पुल से गिरी कार, BJP MLA के बेटे सहित 7 मेडिकल छात्रों की दर्दनाक मौत