नई दिल्ली: मंगलवार को महाराष्ट्र के नागपुर में किसानों ने अपनी मांगों को लेकर प्रशासन के विरोध में प्रदर्शन किया. नागपुर के एक जिले में किसान अपनी मांगो को मनवाने के लिए झील के ठंडे पानी में घंटो खड़े रहे. किसान प्रशासन से झील का पानी छोड़े जाने की मांग कर रहे थे. Also Read - महाराष्ट्र में कोरोनो का कहर, 4 हजार से अधिक नए मामले आए सामने

किसानों की मांग है कि झील से जल छोड़ा जाए, ताकि उनकी फसलें नष्ट न हों. करीब 50 किसान अपनी मांगों को लेकर सोमवार को लगभग तीन घंटे खिंडसी झील में खड़े रहे. Also Read - कंगना रनौत, उनकी बहन रंगोली को मुंबई पुलिस ने फिर किया समन, जानें क्या है मामला...

किसानों ने झील के जलग्रहण क्षेत्र में खेती के लिए पट्टे पर जमीन ली थी, लेकिन पिछले महीने भारी बारिश के बाद यहां बाढ़ आ गई. किसानों ने 30 अक्टूबर को उपमंडलीय अधिकारी से अनुरोध किया था कि झील से पानी छोड़ा जाए, ताकि उनकी फसलें बच सकें, लेकिन जब पानी नहीं छोड़ा गया तो अपना विरोध दर्ज कराने के लिए वे झील में खड़े हो गए. Also Read - Maharashtra Government: किसानों की सुरक्षा और MSP तय करने के लिए महाराष्ट्र सरकार बनाएगी नया कानून

तहसीलदार बालासाहेब मास्के और स्थानीय पुलिस के अधिकारी प्रदर्शनकारियों को शांत करने के लिए घटनास्थल पर पहुंचे. मास्के ने किसानों को भरोसा दिलाया कि वह मामले को सुलझाने के लिए उनके प्रतिनिधियों के साथ मंगलवार को सिंचाई विभाग अधिकारियों की बैठक का प्रबंध करेंगे, जिसके बाद किसानों ने प्रदर्शन समाप्त किया.